माँ बनते समय रखें इन बातों का विशेष ध्यान, वरना आपको भी हो जाएगा किन्नर...'

माँ बनते समय रखें इन बातों का विशेष ध्यान, वरना आपको भी हो जाएगा किन्नर...'

किन्नर की बात करें तो किन्नर का जन्म बहुत मुश्किल से होता है. ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि कैसे होता है किन्नर का जन्म. वैसे कहा जाता है किन्नरों का जन्म भी आम घरों में ही होता है और फिर किन्नर के रूप में जन्मे बच्चे को उसके माता पिता खुद ही किन्नरों के हवाले कर देते हैं या किन्नर खुद उसे ले जाते हैं और उसका पालन-पोषण करते हैं. जी कहा जाता है कि कुछ वजहों से गर्भ में पल रहा बच्चा लड़का या लड़की का रूप ना लेकर किन्नर का रूप ले लेता है और गर्भावस्था के पहले तीन महीने के दौरान बच्चे का लिंग निर्धारित होता है और ऐसे में इस दौरान ही किसी तरह के चोट, विषाक्त खान-पान या फिर हॉर्मोनल प्रॉब्लम की वजह से बच्चे में स्त्री या पुरूष के बजाय दोनों ही लिंगों के ऑर्गन्स और गुण आ जाते हैं..

इसलिये गर्भावस्था के शुरुआत के 3 महीने बहुत ही ध्यान देने वाले होते हैं. आइए जानते हैं लिंग निर्धारण कैसे होता है. कहते हैं मानव जाति में क्रोमोसोम की संख्या 46 होती है जिसमें 44 आटोजोम होते हैं जबकि शेष दो सेक्स क्रोमोजोम होते हैं और यही दो सेक्स क्रोमोसोम लिंग निर्धारित करते हैं। ऐसे में पुरूष में XY और स्त्री में XX क्रोमोसोम होते हैं और इन दोनो समागम से जब गर्भ में बच्चा आता है तो उसमें अगर यही दो सेक्स क्रोमोसोम XY हो तो वह लड़का पैदा होता है जबकि, XX होने पर लड़की पैदा होती है. वहीं कहा जाता है XY और XX क्रोमोसोम के अलावा कभी-कभी XXX, YY, OX क्रोमोसोमल डिसऑर्डर वाले बच्चें भी हो जाते हैं जो कि किन्नर पैदा होते हैं और उनमे स्त्री और पुरूष दोनों के गुण आ जाते हैं.

इसी के साथ कहते हैं गर्भावस्था के शुरुआत के 3 महीने में बच्चा मां के गर्भ में पल रहा होता है तो कुछ कारणों से क्रोमोजोम नंबर में या क्रोमोसोम की आकृतियों में परिवर्तन हो जाता है जिसके कारण किन्नर पैदा हो जाते है. इसी के साथ ऐसा भी कहा जाता है प्रेग्नेंसी के 3 महीने के दौरान किसी एक्सीडेंट या चोट से शिशु के ऑर्गन्स को नुकसान पहुंचा हो तो किन्नर पैदा होता है.

हर व्हेल पानी में सांस नहीं ले सकती, जानें व्हेल के और भी फैक्ट्स

दुनिया के 3 सबसे अनोखे रेस्टोरेंट, एक की तो जाने वालों को ही खबर नहीं

1 रु के चक्कर में युवक की जान से खेल गए दुकानदार, उड़ेल दिया गरमागरम तेल