राकेश झुनझुनवाला कैसे चुनते थे शेयर्स? खुद खोला था ये बड़ा राज

शेयर बाजार के बिगबुल राकेश झुनझुनवाला (Rakesh Jhunjhunwala) का 62 वर्ष की आयु में निधन हो गया है। उन्हें मुंबई के ब्रीच कैंडी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। आज प्रातः 6 बजकर 45 मिनट पर हॉस्पिटल ने राकेश झुनझुनवाला की मौत की पुष्टि की। शेयर बाजार के जगत में वर्ष 1985 में एंट्री करने वाले राकेश झुनझुनवाला बताते थे कि बाजार हमेशा फ्यूचर देखता है। कोरोना महामारी के पश्चात् भारतीय मार्केट दबाव में था। उस समय भी उन्होंने निवेशकों से बोला था कि घबराने की आवश्यकता नहीं है। जल्द ही कुछ सेक्टर्स में तेजी नजर आएगी। राकेश झुनझुनवाला ने अपने एक इंटरव्यू में बताया था कि अपने लिए शेयर्स कैसे चुनते हैं।

राकेश झुनझुनवाला ने तब बोला था कि निवेशकों को बाजार के उतार-चढ़ाव से नहीं डरना चाहिए, यदि बाजार लो बनाता है तो फिर यही बाजार नया हाई भी बनाता है। वर्ष 1985 में शेयर बाजार में कदम रखने वाले राकेश झुनझुनवाला ने अपना आरभिंक बड़ा फायदा टाटा टी के शेयर बेचकर कमाया था। उन्होंने तब टाटा टी के पांच हजार रुपये के शेयर 43 रुपये कि कीमतों पर खरीदे थे। अगले 3 महीने में ही शेयर की कीमत चढ़कर 143 रुपये हो गई। इन्हें बेचकर तब उन्होंने अपनी पहली मोटी कमाई की थी।

कैसे चुनते थे शेयर्स:-
अपने शेयर चुनने को लेकर राकेश झुनझुनवाला बोलते थे- 'मैं सबसे पहले भाव देखता हूं, तत्पश्चात, कंपनी का फंडामेंटल देखता हूं तथा फिर कंपनी के फ्यूचर ग्रोथ को देखता हूं।' इन बातों का ध्यान रखकर राकेश झुनझुनवाला ने शेयर बाजार में अपनी सफलता के झंडे गाड़े थे। राकेश झुनझुनवाला ने तब बोला था कि उनका निवेश का तरीका जो वर्ष 1985 में था, वहीं आज भी है और आगे भी रहेगा।

'धर्म बदला तो नहीं मिलेगा आरक्षण का लाभ..', इस राज्य में धर्मान्तरण पर सख्त कानून

सुप्रीम कोर्ट के जजों की आलोचना कर घिरे प्रशांत भूषण, बार काउंसिल ने जमकर लताड़ा

आखिर किसने तय किया था स्वतंत्रता दिवस का दिन, जानिए इसका इतिहास 

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -