इंसानों के लिए कितना खतरनाक है नया वायरस 'नियोकोव', एक्सपर्ट्स ने दिया ये जवाब

नई दिल्ली: कोरोना संक्रमण के एक और नए भयावह रूप नियोकोव (NeoCoV) के मिलने से समस्या और बढ़ गई है. इसकी पुष्‍टि चीन के एक्सपर्ट्स ने की है. वुहान की चाइनीज एकेडमी तथा साइंसेज के एक्सपर्ट्स का कहना है, नियोकोव वेरिएंट साउथ अफ्रीका के चमगादड़ों में पाया गया था. यह मनुष्यों को संक्रमित कर सकता है. प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार, अब तक मनुष्यों में इसके मामले नहीं मिले हैं, मगर यह भयंकर है. नियोकोव से पॉजिटिव होने वाले 3 में से एक मनुष्य की मौत हो सकती है. रिपोर्ट बताती है कि नियोकोव मेर्स कोरोना संक्रमण से मिलता-जुलता संक्रमण है. मेर्स संक्रमण मेरबेकोवायरस वंश से संबंध रखता है, इसका संक्रमण होने पर मौत का संकट 35 फीसदी तक रहता है. 

वही नया वेरिएंट नियोकोव (NeoCoV) मनुष्यों के लिए कब खतरनाक सिद्ध हो सकता है, इस संक्रमण से कितना संकट है तथा इस पर विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन (WHO) का क्‍या कहना है, यहां जानिए...
रिसर्च रिपोर्ट की 3 बड़ी बातें:-
1- रिपोर्ट के अनुसार, नियोकोव मेर्स-कोव का ही नजदीकी संक्रमण है जो चमगादड़ में मिला है.
2- T510F म्‍यूटेशन के पश्चात् यह संक्रमण मनुष्यों को भी संक्रमित कर सकता है. 
3- संक्रमण के पश्चात् यह वायरस एंटीबॉडीज को भी मात दे सकता है.

चीनी एक्सपर्ट्स के अनुसार, नए वेरिएंट नियोकोव के फैलने तथा इससे मौत होने का खतरा अधिक है. यदि इससे 3 रोगी पॉजिटिव होते हैं तो इनमें से एक की मौत होने का संकट रहता है. एक्सपर्ट्स का कहना है, यदि नियोकोव स्वयं में म्‍यूटेशन करता है तो यह मनुष्यों के लिए बेहद भयंकर सिद्ध हो सकता है. नए वेरिएंट नियोकोव पर WHO ने बयान जारी किया है. WHO के अनुसार, दक्ष‍िण अफ्रीका के चमगादड़ों में मिला यह वेर‍िएंट मनुष्यों के लिए कितना खतरनाक है, ये शोध करने के पश्चात् भी बताया जा सकेगा. खतरों को समझने के लिए इस वेरिएंट पर अभी और शोध किए जाने की आवश्यकता है. WHO के अनुसार, जानवरों से मनुष्यों में पहुंचने वाले संक्रमण को लेकर वह वर्ल्‍ड ऑर्गेनाइजेशन फॉर एनिमल हेल्‍थ (OIE), फूड एंड एग्रीकल्‍चर ऑर्गेनाइजेशन (FAO) तथा यूएन एनवायर्नमेंट प्रोग्राम  (UNEP) के साथ मिलकर शोध कर रहा है. शोध के माध्यम से इनसे मनुष्यों तक पहुंचने वाले खतरों को समझने का प्रयास किया जा रहा है.

भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 678 मिलियन अमरीकी डॉलर से गिरकर 634.28 बिलियन अमरीकी डॉलर हुआ

'Pegasus पर जवाब दे PMO ..', NYT की रिपोर्ट को लेकर केंद्र पर हमलावर हुई कांग्रेस

जिस तस्वीर का बंगाल पुलिस ने किया Fact Check, उसे इस्तेमाल कर NBT और दैनिक जागरण ने फैलाया झूठ

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -