कितना खतरनाक है कोरोना का नया वेरिएंट ओमिक्रॉन, एक बार फिर खड़े हुए कई सवाल

रायपुर: पिछले 2  वर्षों से लाखों लोगों की जिंदगी छीनने वाला कोरोना वायरस अब अपना और भी विकराल रूप सबको दिखाने लगा है. कोविड के नए वैरिएंट से कई देशों में  हाहाकार मचा हुआ है. जहां WHO ने नए वैरिएंट का नाम ओमिक्रान रखा है. वहीं यह भी कहा जा रहा है कि ओमिक्रॉन अब तक सबसे खतरनाक वैरिएंट है. चौकाने वाली बात तो यह है कि दक्षिण अफ्रिका में नए वैरिएंट के सामने आने के उपरांत 210 प्रतिशत मामले बढ़ चुके है. आखिर कितना खतरनाक है ओमिक्रॉन. क्या एक बार फिर से दुनिया भर में तबाही आएगी और क्या इस वायरस से निपटने का कोई निजात मिलेगा....? 

बीते 2 वर्षों से लोगों को मौत के मुँह में धकेलने वाले कोरोना का अब  32वां वैरिएंट देखने को मिला है. जिसे ओमिक्रान नाम दिया गया है.  दरअसल कोरोना ने के कहर ने भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया की आर्थिक स्थिति को भी हिलाकर रख दिया है. भारत में लगातार 2 वर्ष कोरोना वायरस के कहर का सामना किया है, 
न जाने इस वायरस ने कितनी ही जिंदगियों को निगल लिया होगा. मानव इतिहास में शायद पहली बार ऑक्सीजन, बैड और हॉस्पिटल की किल्लत हुई. इस वायरस के वार ने अपनो को भी पराया कर दिया. वहीं इस बात का पता चला है कि  कोविड ने कई परिवारों को इतनी हानि पहुंचाई है कि जिससे ऊबर पाना बहुत ही मुश्किल है, कोरोना के नए वैरियंट ने एक बार फिर दुनिया के सामने नया अपना रौद्र रूप दिखाना शुरू कर दिया है. सरकारें अलर्ट  हो चुकी है. वैज्ञानिक रिसर्च में लग चुके है , WHO जैसे संगठनों में बैठकों का दौर जारी है और इस नए वैरिएंट ओमिक्रान को समझने का प्रयास कर रहे है. 

नए वैरिएंट को लेकर चिंता करना भी उचित है, जहां यह भी कहा जा रहा है कि ओमिक्रॉन अब तक का सबसे खतरनाक वेरिएंट होने वाला है. जो कि काफी संक्रामक है, और जिसके विरुद्ध वैक्सीन कितनी प्रभावी साबित होगी.  इस वजह को समझाने की स्थिति में कोई भी नहीं है. नए वैरिएंट की दस्तक के साथ कई  कई बड़े प्रश्न भी खड़े हो चुके है, क्या दुनिया में एक बार फिर लॉकडाउन का खतरा मंडरा रहा है ? क्या कोरोना की तीसरी लहर की वजह बनेगा ओमिक्रॉन..? कोविड के नए वैरिएंट पर क्या मौजूदा वैक्सीन काम करेगी ?

कोरोना के नए वेरिएंट के संकट को देखते हुए सेंट्रल गवर्नमेंट ने अलर्ट भी जारी कर दिया है. और जिन 12 देशों में नए वैरिएंट के केस देखने को मिले है, वहां से आने वाले यात्रियों के लिए स्क्रीनिंग अनिवार्य  की जा चुकी है .केंद्र के निर्देश के उपरांत  छत्तीसगढ़ का स्वास्थ्य विभाग एक्शन मोड में है.. जिसके अतिरिक्त  टेस्टिंग, ट्रेसिंग और ट्रीटमेंट के फॉर्मूले पर भी कड़ाई से अमल करने की जिलों को एडवाइस दी है. नए वैरिएंट से प्रभावित इलाकों से आ रहे लोग यदि पॉजिटिव आते हैं तो उनके सैंपल एडवांस जांच के लिए भी भेजे जाएंगे. 

आज मन की बात करेंगे PM मोदी, ये हो सकते हैं मुद्दे!

अंगदान, प्रतिरोपण के मामले में भारत विश्व में तीसरे स्थान पर: मंडाविया

Ind VS NZ: टेस्ट क्रिकेट में अश्विन ने रचा इतिहास, दिग्गज वसीम अकरम भी रह गए पीछे

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -