भला ऐसे भी कैसे मनेगा हरतालिका तीज का व्रत !

Sep 04 2016 11:29 AM
भला ऐसे भी कैसे मनेगा हरतालिका तीज का व्रत !

आज देशभर में हरतालिका तृतीया का पर्व मनाया जा रहा है। दरअसल यह पर्व हिंदू मान्यताओं के अनुसार एक पत्नी द्वारा पति की लंबी आयु और युवतियों को मनभावन पति मिलने की प्रार्थना के साथ मनाया जाता है। इस पर्व से कई मान्यताऐं जुड़ी हैं और हमारी सामाजिक और सांस्कृतिक पृष्ठभूमि इस पर्व से जुड़ी है। मगर आधुनिक दौर में जिस कदर युवाओं पर महत्वाकांक्षा हावी है। जिस तरह से परिवार टूट रहे हैं और घर बिखर रहे हैं इस पर्व की मिठास कुछ फीकी पड़ जाती हैं कई बार छोटे - छोटे कारणों से परिवार बिखर जाते हैं।

उर्वशी शादी के बाद अपनी हाॅबी को प्रोफेशन के तौर पर कंटीन्यू करना चाहती थी। परिवार के सदस्यों ने उसे इस बात के लिए कभी टोका नहीं बल्कि उसे सपोर्ट ही किया। कवीन उर्वशी के साथ उसे घर में भी सपोर्ट किया करता था। कवीन अक्सर घर का अपना काम स्वयं ही कर लिया करता था मगर उर्वशी अपनी हाॅबी को बतौर प्रोफेशन अपनाने के बाद भी घर के कामों में एडजस्ट नहीं करती थी।

ऐसे में दोनों में विवाद होने लगे। बाद में कवीन भी उर्वशी की आदतों को सहन नहीं कर पाया और दोनों अलग हो गए। अवनी और अमित दोनों शादी के बंधन में बंधे लेकिन अवनी शादी के बाद एडजस्ट ही नहीं कर पाई। वह बात - बात पर चिड़चिड़ किया करती थी। बाद में वह ससुराल से अलग हो गई अब वह अपने मायके में रह रही है। आज हरतालिका तीज पर उर्वशी और अवनी दोनों अपने - अपने घरों में सिल्क की शानदार जरीदार साड़ी पहनकर चहक रही हैं।

दोनों ही सुबह से इतरा रही हैं। अवनी अपने महंगे ब्रेसलेट को अन्य महिलाओं को दिखा रही है तो उर्वशी महंगे परफ्यूम के बारे में लोगों को बता रही है जो उसने अपने परिधानों पर काफी सारा उड़ेल रखा है। मगर दोनों ही न तो अंदर से खुश हैं और न ही लोग उन्हें देखकर प्रसन्न हैं।

सभी यह समझ रहे हैं कि दोनों ही बनावटी बातें कर रही हैं और अंदर से उतनी ही उदास हैं मगर दोनों को दुनिया के बीच कामयाब और आकर्षक जो दिखना है। जिसके कारण हरतालिका व्रत पर दोनों सजधज कर तैयार हो गई हैं, अब सभी के साथ पूजन की औपचारिकताओं को जो निभाना है।