ज्योतिषशास्त्र के अनुसार जानिये घर का कौन सा हिस्सा किस रंग का हो

ज्योतिषशास्त्र के अनुसार जानिये घर का कौन सा हिस्सा किस रंग का हो

ऐसी मान्यता है कि घर के अलग-अलग स्थान अलग-अलग ग्रहों को नियंत्रित करते हैं. इसके साथ ही वहां पर ग्रहों के सही रंगों के प्रयोग से ग्रह मजबूत होंगे. सही जगहों पर सही रंग के इस्तेमाल से ग्रहों का संतुलन बना रहेगा और सुख शान्ति रहेगी. इसके साथ ही पर क्या आपको पता है कि घर में गलत रंग के प्रयोग से ग्रह उलटे भी हो सकते हैं और बिना कारण के आप परेशानी में आ सकते हैं. आइए जानते हैं कि घर में किस स्थान पर किस रंग का प्रयोग करें.

घर के मुख्य द्वार का रंग कैसा होना चाहिए ?

- घर का मुख्य द्वार सूर्य से सम्बन्ध रखता है.
- इस स्थान का रंग लालिमा या पीलापन लिए हुए होना चाहिए.
- इस स्थान पर काले रंग का प्रयोग सबसे ज्यादा नुकसान करता है.
- इस स्थान पर प्रकाश की उत्तम व्यवस्था होनी चाहिए.

घर के लिविंग एरिया का रंग कैसा होना चाहिए?

- यह स्थान चंद्रमा का है.
- घर के लिविंग एरिया का रंग चमकदार होना चाहिए.
- सफेद रंग का प्रयोग भी कर सकते हैं.
- हल्का पीला, गुलाबी और बैगनी रंग यहाँ के लिए उपयुक्त है.
- यहां लाल और नीले रंग का प्रयोग न करें तो उत्तम होगा.

घर की रसोई का रंग कैसा होना चाहिए?

- यह स्थान मंगल और कुछ अर्थों में सूर्य का है.
- इस स्थान पर पीला और नारंगी रंग शुभ होता है.
- यहां सूर्य का प्रकाश आना भी आवश्यक है.
- इस स्थान पर गाढ़े रंगों का प्रयोग न करें.

घर के शयनकक्ष का रंग कैसा होना चाहिए?

- यह स्थान शुक्र और कुछ अर्थों में शनि से सम्बन्ध रखता है.
- इस स्थान पर ठंढे रंगों का प्रयोग करना लाभकारी होता है.
- यहां गुलाबी, हल्का हरा और क्रीम रंग शुभ होता है.
- यहां पर लाल और नीला रंग प्रयोग न करें.
- यहां पर हलके प्रकाश की व्यवस्था करें.

घर में बाथरूम का रंग कैसा होना चाहिए ?

- यह स्थान राहु और केतु से सम्बन्ध रखता है.
- इस स्थान पर जलीय रंगों का प्रयोग लाभकारी होता है.
- यहां पर नीले या सफेद रंग का प्रयोग करें.
- यहां प्रकाश की अच्छी व्यवस्था करें.
- साथ ही पानी की बर्बादी न करें.

जानिये कैसे सुधारे खराब ग्रहों की दशा, क्या है उपाय

जानिये क्या दरवाजा भी बदल सकता है आपकी किस्मत

भोलेनाथ का हर नाम जपने से दूर होंगे सभी दुःख दर्द