ये है भुतहा मोबाइल नंबर जो सोशल मीडिया पर हो रहा वायरल, ले चुका कई जानें

ये है भुतहा मोबाइल नंबर जो सोशल मीडिया पर हो रहा वायरल, ले चुका कई जानें

आपने कई स्पेशल मोबाइल नंबर देखे होंगे जो लोग अपनी इच्छा से खरीदते हैं. लेकिन कई बार ये स्पेशल नंबर आपके लिए भरी पड़ जाते हैं. लेकिन आज हम आपको जिस स्पेशल नंबर के बारे में बताने जा रहे हैं वह अपनी कीमत नहीं बल्कि काम के चलते प्रसिद्द हुआ हैं. क्योंकि यह नंबर मौत की घंटी लेकर आता हैं और कई लोगों की जान ले चुका हैं. सुनकर आपको हैरानी हो रही होगी लेकिन आपको बता दें, ऐसा ही भूतिया नंबर है ये जानते हैं इसके बारे में. 

दरसल,  एक ऐसा मोबाइल नंबर है जिसे जिसने भी खरीदा उसकी मौत हो गई. सोशल मीडिया पर इस भूतिया मोबाइल नंबर को लेकर काफी चर्चा है. बताया जा रहा है कि इस मोबाइल नंबर को अब तक जिसने भी इस्तेमाल किया है उसकी मौत हो गई है. यह कोई पहली घटना नहीं है बल्कि अब तक तीन बार ऐसी घटनाएं हो चुकी हैं. इस नंबर को अब तक तीन लोगों ने खरीदा है जिनकी मौत हो गई. इसके बाद से ही ये चर्चा में बना हाउ है और लोग इसके बारे में जानकर हैरान हैं. 

बता दें, यह मामला बुल्गारिया का है. सबसे पहले इस नंबर को मोबीटेल कंपनी के सीईओ ने खरीदा था. कंपनी के सीईओ व्लादमीर गेसनोव ने 0888888888 सबसे पहले खुद के लिए जारी करवाया था. इसके बाद साल 2001 में व्लादमीर की मौत कैंसर के कारण हो गई. बताया जा रहा है कैंसर से मौत होने की अफवाह उनके दुश्मनों ने फैलाई थी, जबकि मौत की असली वजह कुछ और ही थी. कुछ मीडिया संस्थानों की खबरों के अनुसार बताया गया कि यस मोबाइल नंबर की उनकी जान का दुश्मन बना. अब असल में सच क्या है इसके बारे में कोई खास जानकारी नहीं है. 

व्लादमीर के बाद इस मोबाइल नंबर को डिमेत्रोव नाम के एक खुख्यात ड्रग डीलर ने ले लिया, यह नंबर लेने के बाद डिमेत्रोव को वर्ष 2003 में एक असेसन ने मार दिया. डिमेत्रोव की मौत के बाद यह नंबर बुल्गारिया के एक व्यापारी डिसलिव ने खरीदा. नंबर लेने के बाद डिसलिव को भी वर्ष 2005 में बुल्गारिया की राजधानी सोफिया में मार दिया गया.

वफादार कुत्ते ने जान दे कर बचाई मालिक और पूरे परिवार की जान

सोशल मीडिया पर ट्रेंड हुआ #370Gaya, अमित शाह की तारीफ में बने ये मिम्स

बहुत काम की होती है सामान से निकला ये पैकेट