घरेलू उपचार से पाए अस्‍थमा से छुटकारा

घरेलू उपचार से पाए अस्‍थमा से छुटकारा

अस्‍थमा की शिकायत बहुत गंभीरता की बात होती है क्योंकि अस्‍थमा अटैक से श्वास नलिकाएं पूरी तरह बंद हो सकती हैं इससे साँस लेने मे परेशानी होती है। अस्‍थमा के उपचार के लिए डॉक्‍टर की सलाह लेना चाहिए। लेकिन अस्‍थमा को नियंत्रित करने के लिए घरेलू उपाए भी है। ये उपाए भी फायदेमंद होता है। आइए जाने घरेलु उपाए जिससे आप अस्‍थमा को कंट्रोल मे रख सकते है।   

अदरक और लहसुन से फायदा

अस्‍थमा के इलाज के लिए अदरक और लहसुन फायदेमंद होता है। अस्‍थमा की शुरुआती दीनो मे आप 30 मिली दूध मे लहसुन की पांच कलियां उबाल कर ले सकते है इससे लाभ मिलेगा। चाय मे लहसुन की दो कालियां मिलाकर सुबह-शाम पीने से अस्‍थमा को नियंत्रित कर सकते है।  

अजवाइन लें

अस्‍थमा रोगियों के लिए अजवाइन बहुत फायदेमंद होता है। आधा कप अजवाइन का रस और आधा कप पानी मिलाकर सुबह-शाम भोजन के बाद लेने से अस्‍थमा नष्ट हो जाता है। अजवाइन के पानी से भाप लेना से भी फायदा मिलता है। इसके लिए पानी मे अजवाइन डाल कर उसे उबाल लें और भाप लें। इससे श्वास-कष्ट में तुरंत फायदा मिलता है।  

शहद खाएं

बलगम से अस्‍थमा की परेशानी पैदा होती है। शहद का सेवन करने से बलगम की परेशानी दूर होती है। अस्‍थमा रोगीयों के लिए शहद बहुत फायदेमंद होता है क्योंकि अटैक आने पर शहद को सूंघने से काफी फायदा मिलता है। एक गिलास गुनगुने पानी मे शहद मिलाके पीने से अस्‍थमा से राहत मिलता है ये उपाए दिन मे तीन बार करना चाहिए।     

सहजन की पत्तियों का काढ़ा

अस्‍थमा मे सहजन की पत्तियों का काढ़ा लाभकारी होता है। सहजन की पत्तियों को पानी मे डाल के 5 मिनट तक उबाल लें और ठंडा करके इसमे एक चौथाई नींबू का रस, काली मिर्च का पाउडर और चुटकी भर नमक मिला के पियें।