चेहरे पर हुए सफ़ेद पिम्पल को दूर करने के लिए करें हल्दी का उपयोग

कई लोगों को फोड़ें की समस्या होती है. यह हल्के गुलाबी रंग का होता है जिसमें पस होता है. इससे काफी दर्द होता है और इसे झेलने के लिए आपको हिम्मत भी चाहिए होती है. फोड़ें की वजह से त्वचा पर लालीपन और सूजन हो जाता है और कई बार इसके कारण होने वाला दर्द असहनीय हो जाता है. इसके अलावा आपका चेहरा भी  लाल पड़ जाता है. जब व्हाइट ब्लड सेल्स में बैक्टीरिया प्रवेश करता है तो उसके आस-पास का टिशू मर जाता है जिसके कारण फोड़ें में पस भर जाता है. अगर आप भी इसे झेल रहे हैं हैं तो आपको बता दें कि किन तरीकों से इसे दूर किया जा सकता है. 

बेकिंग सोडा:
1 चम्मच बेकिंग सोडा में 1 चम्मच नमक और पानी मिलाएं. अब इस पेस्ट को रूई की मदद से प्रभावित हिस्से पर लगाकर 15-20 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर उसे साफ कर लें. बेकिंग सोडा में एंटीसेप्टिक और एंटी-बैक्टीरियल गुण होता है जो इंफेक्शन को कम करता है.

नारियल तेल:
1-2 चम्मच नारियल तेल को गर्म पानी में मिलाएं और उससे माउथ वॉश करें. इसके दिन में दो बार करें. नारियल तेल में लौरिक एसिड होता है जो सूजन को कम करता है और इंफेक्शन को कम करता है.

हल्दी:
1 चम्मच हल्दी पाउडर में 1 चम्मच दूध या पानी मिलाएं और इस पेस्ट को प्रभावित हिस्से पर लगाकर 20-30 मिनट तक छोड़ दें. अब इसे साफ पानी से धो लें. इस विधि को दिन में 2-3 बार करें. हल्दी में एंटीसेप्टिक और एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण होता है जो फोड़ें की समस्या को कम करता है.

नीम:
कुछ नीम के पत्ते को पीस लें और उस पेस्ट को प्रभावित हिस्से पर लगाकर 15-20 मिनट तक छोड़ दें और फिर धो लें. इस विधि को हर कुछ घंटों पर करें. नीम में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-फंगल गुण होता है जो फोड़ें के इंफेक्शन को कम करता है.

बढ़ती उम्र को रोकना चाहते हैं तो जरूर जानें चक्र फूल के फायदे

ग्रे हेयर्स को इन नैचरल तेलों से करें काला

लिवर डैमेज से बचाये अंश्वगंधा, ये हैं अन्य लाभ

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -