'रोहिंग्या देश की सुरक्षा के लिए ख़तरा...', गृह मंत्रालय ने कहा- नियमों के आधार पर हो रही कार्रवाई

Jul 20 2021 03:21 PM
'रोहिंग्या देश की सुरक्षा के लिए ख़तरा...', गृह मंत्रालय ने कहा- नियमों के आधार पर हो रही कार्रवाई

नई दिल्ली: केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने लोकसभा में रोहिंग्याओं को लेकर पूछे गए एक सवाल पर रोहिंग्या को देश के लिए खतरा बताया है. गृह मंत्रालय ने कहा है कि,  कुछ रोहिंग्या प्रवासियों के द्वारा गैर कानूनी गतिविधियों में शामिल होने की जानकारी मिली है. सरकार ने यह भी कहा है रोहिंग्या को प्रत्यापर्ण पर कोई रोक नहीं लगाई गई है. ऐसे में नियमों के आधार पर कार्रवाई की जा रही है.

कोरोना की दूसरी लहर फैलने की वजह को लेकर भी गृह मंत्रालय ने लोकसभा में जवाब दिया है. उन्होंने कहा कि कोरोना के केस जब कम हो रहे थे, तो रियायत दी जा रही थी और कोविड के नियमों का पालन नहीं किया गया था, इस कारण संक्रमण बढ़ा. कोरोना वेरिएंट के बदलते स्वरूप ने भी संक्रमण फैलाने में अहम भूमिका निभाई, केंद्र सरकार को यह जानकारी उसके द्वारा गठित की गई विभिन्न टीमों से मिली है. वहीं, लोगों में कोविड के अनुरूप व्यवहार ना करवाने पाने के कारण संक्रमण राज्यों में बढ़े.

बता दें कि इससे पहले भी गृह राज्य मंत्री ने कई बार इस मसले को उठाया है. गत वर्ष संसद में उन्होंने कहा था कि अवैध घुसपैठिए बगैर किसी दस्तावेज के भारत में प्रवेश करते हैं, इसलिए इनकी तादाद का कोई रिकार्ड नहीं है. 2019 में भी नित्यानंद राय ने रोहिंग्या की संख्या के संबंध में कोई रिकार्ड नहीं होने की बात कही थी. उन्होंने लोकसभा में किये गए प्रश्न के उत्तर में कहा था कि क्योंकि अवैध प्रवासी देश में वैध यात्रा बगैर दस्तावेजों के करते हैं इसलिए इनके सटीक आंकड़े मौजूद नहीं हैं.

पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष बनकर लुधियाना पहुंचे 'सिद्धू' को दिखाए गए काले झंडे, प्रदर्शनकारियों ने की नारेबाजी

पेगासस विवाद पर शशि थरूर बोले- "स्वतंत्र जांच की जरूरत और राष्ट्रीय सुरक्षा कोई बहाना नहीं..."

Pegasus कांड: 'राहुल गांधी की भी हुई जासूसी..', विपक्ष बोला- मामले की JPC जांच कराई जाए