रमज़ान में भी नहीं रुकेगा आतंकियों का सफाया- गृहमंत्री

श्रीनगर:  जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती की विशेष सिफारिश पर मोदी सरकार ने राज्य में चलाए जा रहे अभियान को रमजान के दौरान स्थगित करने का फैसला किया है. मोदी सरकार के इस फैसले के बाद गृहमंत्री ने भी सुरक्षाबलों को निर्देश जारी कर दिया है. हालांकि कुछ देर बाद गृहमंत्री ने पाकिस्तान में बैठे आतंकी संगठनों के आकाओं ने रमज़ान के दौरान भी सुरक्षा बलों पर हमले जारी रखने का ऐलान कर दिया था, क्योंकि आतंकियों ने रमज़ान के पहले ही दिन दो वारदातों  को अंजाम दिया था. इसलिए गृहमंत्री ने आतंक के खिलाफ कार्यवाही जारी रखने का ऐलान किया है.

बता दें कि  रमज़ान के पहले ही दिन लश्कर-ए-तैय्यबा के आतंकियों ने हाजिन में सब-इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षा की तैयारी कर रहे 23 साल के एक नौजवान की हत्या कर दी थी, इसके साथ श्रीनगर की एक पॉश कालोनी में आतंकी एर होटल क सुरक्षा में तैनात सुरक्षाबलों पर हमला करके उनके हथियार लेकर भाग गए हैं.  इसीलिए श्रीनगर में सुरक्षा बलों पर ऐसी जगह हमला किया गया जहां से कुछ ही फासले पर मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती, पूर्व मुखमंत्री उमर अब्दुल्ला और फारूक अब्दुल्ला समेत राज्य की कई बड़ी राजनीति हस्तियों के घर हैं.

इन हमलों के बाद गृहमंत्रालय ने कहा है कि रमज़ान की पवित्रता का एहतराम इस्लाम के मानने वालों पर फर्ज़ है न कि सुरक्षा बलों के जवानों पर. धर्मनिरपेक्ष देश के सुरक्षा बल भी धर्मनिरपेक्ष हैं. किसी धर्म के त्यौहार विशेष के एहतराम की खातिर उनके हाथ बांध देना उचित नहीं है. इस मामले में कई लोगों ने गृहमंत्री से सवाल किया है कि अगर आतंक का कोई धर्म नहीं होता तो फिर रमज़ान के नाम पर आतंकियों से नरमी क्यों बरती जा रही है ?ऐसा करके उन्हें इस्लाम से क्यों जोड़ा जा रहा है ?

पाक की ओर से गोलीबारी में एक जवान शहीद

आतंकियों ने कुलगाम सेक्‍टर के बैंक में की लूटपाट

पीएम मोदी आज जोजिला सुरंग का शिलान्यास करेंगे

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -