अमित शाह के खत से सीएम ममता की खुल सकती है नींद, राज्य के असहयोग पर कही यह बात

कोरोना के कहर के बीच बंगाल में ममता सरकार और केंद्र सरकार के बीच चल रही तनातनी के बीच आज गृह मंत्री अमित शाह ने बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को एक पत्र लिखा. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने ममता बनर्जी को पत्र लिखा है, जिसमें केंद्र सरकार द्वारा पश्चिम बंगाल के प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाने के लिए किए जा रहे प्रयासों में ममता सरकार के असहयोग का मुद्दा उठाया गया है.

WHO का बड़ा बयान, कहा- 'कोरोना के फैलने में वुहान मार्केट की रही भूमिका लेकिन...'

अपने पत्र में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा है कि प्रवासी मजदूरों को ट्रेन से घर पहुंचने में ममता सरकार केंद्र की मदद नहीं कर रही है.इस बाबत उन्होंने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को  एक पत्र लिखा है. उन्होंने कहा है कि बंगाल सरकार ट्रेन को राज्य में प्रवेश नहीं करने दे रही हैं.

लायल जेफ़ और वारेन जेफ़ के काले कारनामे, बिशप से कैसे पहुंचे जेल

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि केंद्र सरकार और पश्चिम बंगाल सरकार के बीच कई मुद्दों पर तनातनी देखने को मिलती रहती है. अब प्रवासी मजदूरों को लेकर दोनों आमने-सामने आ गए हैं. जहां कई राज्य सरकारें प्रवासी मजदूरों के लिए राज्य सरकारें विशेष ट्रेनों का संचालन कर रही हैं. वहीं बंगाल सरकार ने ऐसा कोई कदम नहीं उठाया है. इसे लेकर शनिवार को गृह मंत्री अमित शाह ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को पत्र लिखा है. वही पत्र में शाह ने कहा कि, 'प्रवासियों को घर पहुंचने में मदद करने के लिए राज्य सरकार का सहयोग नहीं मिल रहा है. बंगाल सरकार राज्य में प्रवासियों को ट्रेन तक नहीं पहुंचने दे रही है. पश्चिम बंगाल तक ट्रेनों को नहीं आने देना प्रवासी मजदूरों के साथ अन्याय है. यह उनके लिए और अधिक कठिनाई पैदा करेगा.

इस नेता ने भाजपा को बताया पूंजीवादियों का हितैषी, मजदूरों को लेकर लगाया गंभीर आरोप

सत्ताधारी पार्टी पर विपक्ष का बड़ा हमला, राष्ट्रपति को पत्र लिखकर दर्ज कराया विरोध

अमेरिका के उपराष्ट्रपति की प्रेस सचिव निकली कोरोना पॉजिटिव, व्हाइट हाउस में हड़कंप'

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -