लॉक डाउन और चुनाव को लेकर बोले अमित शाह- जल्दबाजी में लॉकडाउन लगाने वाली स्थिति अभी नहीं

Apr 18 2021 09:54 AM
लॉक डाउन और चुनाव को लेकर बोले अमित शाह- जल्दबाजी में लॉकडाउन लगाने वाली स्थिति अभी नहीं

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने एक मीडिया को दिए अपने इंटरव्यू में बोला है कि भारत में फिलहाल जल्दबाजी में लॉकडाउन लगाने की कोई आवश्यकता नज़र नहीं आ रही है। अमित शाह ने बोला कि देश में फिलहाल संपूर्ण लॉकडाउन वाली स्थिति अभी पैदा नहीं हुई है। 'पिछले वर्ष की तरह, क्या लॉकडाउन कोविड को कंट्रोल कर सकता है और इसकी अभी आवश्यकता है?', इस प्रश्न के जवाब में अमित शाह ने बोला भारत में कोविड के मौजूदा हालतों को लेकर कई एक्सपर्ट की टीमों के साथ चर्चा कर रहे हैं। बीते वर्ष लॉकडाउन का उद्देश्य अलग था। हम आधारभूत संरचना और उपचार के लिए उस दौरान प्लानिंग कर रहे थे। हम कोरोना के विरुद्ध लड़ने की योजना तैयार करना चाहते थे। हमारे पास कोई दवा या टीका नहीं था। लेकिन अब स्थिति अलग है। फिर भी, हम सीएम के साथ चर्चा कर रहे हैं। आम सहमति जो भी हो, हम उसी के मुताबिक हम आगे बढ़ेंगे। मगर जलदबाजी में लॉकडाउन लगाने जैसी स्थिति फिलहाल देश में नहीं दिख रही है।''

चुनावी रैलियों और प्रचार के बीच बढ़ रहा है कोरोना वायरस? इस प्रश्न के जवाब में अमित शाह ने बोला , ''देखिए महाराष्ट्र में अभी चुनाव हो रहे हैं क्या, लेकिन वहां हर रोज 60 हजार केस सामने आ रहे हैं। इधर (पश्चिम बंगाल) 4 हजार केस हैं। मुझे तो महाराष्ट्र के लिए भी अनुकंपा है। और जिसके (पश्चिम बंगाल) लिए भी अनुकंपा है। कोविड को चुनाव के साथ जोड़ना ठीक नहीं है। जिन-जिन राज्यों में चुनाव हुआ, वहां केस ज्यादा नहीं आ रहे हैं। जहां चुनाव नहीं हुआ, उधर अधिक बढ़े हैं। अब आप इसपर क्या कहिएगा।'' आपके चुनावी रैलियों और रोड शो में लोग बिना मास्क के आते हैं? इस पर अमित शाह ने बोला कोविड काल में सभी लोगों को सावधानी बरतनी चाहिए। मैं भी  कोरोना दिशा-निर्देशों का पालन करता हूं। चुनाव लोकतंत्र का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। जब चुनावों का एलान होता है, तो हमारे पास कोई विकल्प नहीं होता है।

आप देश के गृह मंत्री हैं। पिछली बार, जब दिल्ली में कोविड बढ़े थे तो आपने दिल्ली मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ कार्य किया था, इस बार क्या कर रहे हैं? अमित शाह ने बोला, ''इस देश के प्रधानमंत्री (नरेंद्र मोदी) ने तीन-चार निर्णय लिए हैं। टीकाकरण में तेजी लाने के लिए, विदेशी टीकों को अनुमति दी गई है। कोरोना टीकों को अमेरिका, ब्रिटेन, यूरोपीय संघ और जापान में उपयोग के लिए मंजूरी दे दी गई है, ताकि यहां पर तेजी से मंजूरी मिल सके। टीके के उत्पादन को बढ़ाने के लिए कदम उठाए गए हैं। हम सुविधाओं में सुधार के लिए कदम उठा रहे हैं। यह महामारी (इसकी प्रकृति से) तेजी से फैलती है। सरकार हर मोर्चे पर इसके खिलाफ लड़ते हुए तैयार है। हम वेंटिलेटर भेज रहे हैं, नए कोविड-19 अस्पताल स्थापित किए जा रहे हैं।

बड़ी खबर: एयरपोर्ट के पास DRDO कोरोना संक्रमितों के लिए बना रहा बेड इतने बैड

नागार्जुन सागर विधानसभा मतदान- 346 मतदान केंद्रों में शांतिपूर्वक संपन्न हुआ मतदान

कोरोना को 'मज़ाक' समझने वाले हो जाएं सावधान, मरने से पहले इस शख्स ने लाइव जाकर बताई सच्चाई