अमृतसर लोकसभा सीट: सिद्धू के जाने से चले गई थी ये सीट, क्या इस बार भाजपा कर पाएगी वापसी ?

अमृतसर लोकसभा सीट: सिद्धू के जाने से चले गई थी ये सीट, क्या इस बार भाजपा कर पाएगी वापसी ?

अमृतसर: 2019 लोकसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा हो गई है. 2014 में बहुमत से देश में सरकार बनाने वाली भाजपा एक बार फिर अपनी सरकार बनाने की कोशिशों में लगी हुई है. वहीं कांग्रेस द्वारा भी जी जान से भाजपा को मात देने का प्रयास किया जा रहा है. इसी बीच पंजाब की अमृतसर लोकसभा सीट की बात करें तो, आपको बता दें कि, 2014 में भाजपा के अरुण जेटली को इस लोकसभा सीट पर शिकस्त का सामना करना पड़ा था. 

उल्लेखनीय है कि, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) द्वारा इस सीट से 3 बार के सांसद रहे नवजोत सिंह सिद्धु के स्थान पर अरुण जेटली को उम्मीदवार बनाया गया था. हालांकि, अमृतसर की आवाम का साथ अरुण जेटली को नहीं मिल सका था. अमृतसर लोकसभा सीट हमेशा ही अपने बड़े उलटफेर के लिए पहचानी जाती रही है. आपको बता दें कि अमृतसर संसदीय क्षेत्र एक तरह से 2 दशक तक भाजपा का किला रही लेकिन 2014 के लोकसभा चुनाव में यह सीट कांग्रेस के हिस्से में चली गई.

कांग्रेस के दिग्गज नेता अमरिंदर सिंह ने भाजपा के दिग्गज नेता और केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली को इस लोकसभा सीट पर 1 लाख से अधिक मतों से मात दी थी. इस लोकसभा सीट पर कैप्टन अमरिंदर सिंह को 48 प्रतिशत वोट प्राप्त हुए जबकि जेटली को 37.74 प्रतिशत वोट मिले थे. वहीं तीसरे स्थान पर आम आदमी पार्टी के दलजीत सिंह रहे थे.

खबरें और भी:-

जनसभा स्थल पर अखिलेश-मायावती से पहले पहुंचा सांड, मची भगदड़

शिवराज पर हुई एकपक्षीय कार्रवाई की शिकायत लेकर चुनाव आयोग पहुंचे बीजेपी नेता

पीएम मोदी पर अखिलेश यादव ने साधा निशाना, BJP को कहा भागती जनता पार्टी