क्या होगा जब मिलेंगे ट्रम्प और किम जोंग ?

वाशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग की मुलाकात पूरी दुनिया के लिए कौतुहल का विषय बनी हुई है. कभी एक-दूसरे से बेहद नफरत करने वाले ये दोनों लीडर 12 जून को सिंगापूर में बैठक करने वाले हैं. सिंगापुर इसलिए खास वैन्यू है क्योंकि अमेरिका और सिंगापुर के बीच अच्छे संबंध हैं तो वहीं उत्तर कोरिया के साथ भी सिंगापुर के करीबी रिश्ते रहे हैं. इसके अलावा यहां साल 2015 में चीन और ताइवान के बीच 60 साल बाद पहली बार ऐतिहासिक बातचीत हुई थी.

यह बैठक इसलिए भी ख़ास है क्योंकि  कुछ महीने पहले तक दुनिया पर महाविनाश का खतरा मंडरा रहा था. परमाणु युद्ध की आशंकाएं गहरा रही थीं. परमाणु मिसाइलों के हमलों की दहशत दुनिया के आसमान पर चील-गिद्धों की तरह उड़ान भर रही थी. एक महायुद्ध से महाविनाश की कल्पनाएं दुनिया को डराने का काम कर रही थीं क्योंकि एक तरफ जिद तो दूसरी तरफ अहंकार आमने-सामने थे.

ऐसे में उत्तर कोरियाई तानाशाह किम जोंग के साथ बैठक करने को डोनाल्ड ट्रम्प तैयार हो गए. हालांकि, किम जोंग पहले भी कई बार ट्रम्प के साथ वार्ता करने का आग्रह कर चुके थे, लेकिन अमेरिकी राष्ट्रपति ने किम जोंग के सामने शर्त रखी थी कि जब तक किम जोंग अपने परमाणु कार्यक्रमों पर लगाम नहीं लगा देते, तब तक अमेरिका उनसे मुलाकात नहीं करेगा. इसके बाद जब किम जोंग ने परमाणु परीक्षणों को बंद किया, तब जाकर डोनाल्ड ट्रम्प इस बैठक के लिए तैयार हुए. अब देखना ये है कि विश्व की दो बड़ी शख्सियतों के बीच होने वाली इस वार्ता का दुनिया पर क्या असर होता है. 

पीएम मोदी पहुंचे नेपाल के मुक्तिनाथ मंदिर

भारतीय नौसेना करेगी मालदीव की निगरानी

एक ही परिवार के 7 लोगों की संदिग्ध मौत

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -