6 जुलाई से कर सकेंगे 'ताज' का दीदार, लेकिन पर्यटकों को मानने होंगे ये नियम

Jul 03 2020 01:14 PM
6 जुलाई से कर सकेंगे 'ताज' का दीदार, लेकिन पर्यटकों को मानने होंगे ये नियम

आगरा: ताज महल, कुतुब मीनार समेत देश के महत्वपूर्ण स्मारक 6 जुलाई से वापस खुलने जा रहे हैं. संस्कृति मंत्रालय के अनुसार, भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (ASI) द्वारा संरक्षित सभी स्मारक 6 जुलाई से पर्यटकों के लिए फिर खुल जाएंगे, जिनमें सिर्फ ई-टिकट से प्रवेश मिलेगा और पर्यटकों की तादाद सीमित रखी जाएगी. इसके अलावा पर्यटकों के लिए मास्क पहनना जरुरी होगा.

इससे पहले जून में संस्कृति मंत्रालय ने ASI के रख-रखाव वाले 3,000 से ज्यादा स्मारकों में से 820 को फिर खोल दिया था, जहां धार्मिक समारोह होते हैं. कोरोना वायरस संकट को देखते हुए 17 मार्च से केंद्र सरकार द्वारा संरक्षित 3,691 स्मारक और पुरातत्व स्थल बंद थे, जिनकी देखरेख का जिम्मा ASI का है. केंद्रीय संस्कृति और पर्यटन मंत्री प्रह्लाद पटेल ने ट्वीट करते हुए इस बात की जानकारी दी है. उन्होंने कहा है कि, 'मैंने संस्कृति मंत्रालय और ASI के साथ मिलकर सभी स्मारकों को 6 जुलाई से फिर से खोलने का फैसला लिया है.' हालांकि राज्य और जिला प्रशासन की इजाजत से ही ऐसा किया जाएगा.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, अफसरों ने कहा कि जो भी स्मारक फिर खुलेंगे, उनमें स्वास्थ्य मंत्रालय और गृह मंत्रालय द्वारा जारी प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन किया जाएगा. उन्होंने कहा कि स्मारकों में एंट्री के लिए इलेक्ट्रॉनिक तरीके से ही टिकट जारी किए जाएंगे.
स्मारकों की पार्किंग और कैफेटेरिया में सिर्फ डिजिटल भुगतान ही स्वीकार किया जाएगा. मंत्रालय की तरफ से जारी मानक संचालन प्रक्रिया (SoP) के मुताबिक, चुनिंदा स्मारकों में पर्यटकों की संख्या की एक सीमा निर्धारित की जाएगी. 

यहां पर पूरे राज्य में केवल 200 लोग है कोरोना से संक्रमित

6 महीने से कोरोना का मुकाबला कर रहा विश्व का हर एक देश, जानें कहां पहुंचा इंसानी जीवन

गोवा : एक दिन में मिले रिकार्ड ​कोरोना संक्रमित, बहुत कम समय में हजारों लोग हुए पॉजीटिव