34 लाख के फर्जी नोट और नकली सोने के साथ हीरामुल इस्लाम और नजरुल इस्लाम गिरफ्तार, रैकेट का भंडाफोड़ करने में जुटी पुलिस

34 लाख के फर्जी नोट और नकली सोने के साथ हीरामुल इस्लाम और नजरुल इस्लाम गिरफ्तार, रैकेट का भंडाफोड़ करने में जुटी पुलिस
Share:

गुवाहाटी: जाली नोटों के कारोबार पर एक बड़ी कार्रवाई करते हुए, दिसपुर पुलिस स्टेशन की पूर्वी गुवाहाटी पुलिस विभाग (EGPD) टीम ने दो लोगों को गिरफ्तार किया और उनके पास से 34,09,000 रुपये के जाली भारतीय मुद्रा नोट (FICN) के साथ-साथ एक नकली सोना भी जब्त किया। असम के लखीमपुर जिले के बिहपुरिया निवासी हीरामुल इस्लाम (24) और लालुक निवासी नजीरुल इस्लाम (19) को नियमित वाहन जांच के दौरान पकड़ा गया। यह कार्रवाई तब शुरू हुई जब ईजीपीडी टीम ने एएस12 सीसी 0399 के रूप में पंजीकृत एक वाहन को रोका और उसकी गहन तलाशी ली।

तलाशी के दौरान पुलिस को भारी मात्रा में 500 रुपये के नकली नोट और सोने का नकली टुकड़ा मिला। हीरामुल इस्लाम और नजीरुल इस्लाम को तुरंत हिरासत में ले लिया गया और नकली नोट और नकली सोना जब्त कर लिया गया। ईजीपीडी के प्रवक्ता ने गिरफ़्तारियों और उसके बाद की कानूनी कार्रवाइयों की पुष्टि की। प्रवक्ता ने कहा, "संदिग्धों पर अब नकली मुद्रा रखने और उसे वितरित करने तथा धोखाधड़ी से संबंधित आरोप हैं। यह कार्रवाई अवैध गतिविधियों पर नकेल कसने और हमारे समुदाय की आर्थिक अखंडता की रक्षा करने की हमारी प्रतिबद्धता को रेखांकित करती है।"

प्रभाव और भविष्य की कार्यवाही

ईजीपीडी की त्वरित कार्रवाई ने बड़ी मात्रा में नकली मुद्रा के प्रचलन को रोका है, जिसके गंभीर आर्थिक परिणाम हो सकते थे। अब कानूनी कार्यवाही चल रही है, और अधिकारियों द्वारा नकली मुद्रा के वितरण में शामिल किसी भी बड़े नेटवर्क का पता लगाने के लिए आगे की जांच किए जाने की संभावना है। यह घटना क्षेत्र में नकली मुद्रा के चल रहे मुद्दे और सतर्क कानून प्रवर्तन के महत्व को उजागर करती है। समुदाय को नकली मुद्रा से संबंधित किसी भी संदिग्ध गतिविधि की रिपोर्ट करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है ताकि अधिकारियों को इस व्यापक समस्या से निपटने में मदद मिल सके।

इससे पहले 1 जून को, दिसपुर पुलिस स्टेशन की एक पूर्वी गुवाहाटी पुलिस विभाग (ईजीपीडी) टीम ने डाउनटाउन इलाके के पास एक घर में एक गुप्त एफआईसीएन ट्रेडिंग ऑपरेशन का पर्दाफाश किया, जिसके परिणामस्वरूप एक प्रिंटिंग मशीन और 3,49,500 रुपये के नकली भारतीय मुद्रा नोट (एफआईसीएन) जब्त किए गए। छापेमारी के बाद त्रिपुरा के कुमारघाट के रहने वाले 30 वर्षीय शत्रुगन रियांग और अलासरन्हा रियांग (52) और असम के लखीमपुर जिले के लालुक के रहने वाले मोइनुल हक (23) को गिरफ्तार किया गया। पुलिस सूत्रों ने बताया कि गिरफ्तार किए गए व्यक्ति एक अंतरराज्यीय नकली मुद्रा नोट रैकेट का हिस्सा हैं। रैकेट का भंडाफोड़ करने के लिए जांच जारी है।

भाजपा को वोट दिया, तो शहीद-अराफात ने परिवार पर किया हमला, गर्भवती महिला को भी नहीं छोड़ा, कोई कार्रवाई नहीं !

14 दिनों से युवक की नाक में चल रही थी खुजली, आ रहा था खून, डॉक्टर ने ऑपरेशन कर निकाला ये जीव

मणिपुर में अलग राज्य की मांग को लेकर सड़कों पर उतरा कुकी-जो समुदाय, बोले- यही समाधान

 

रिलेटेड टॉपिक्स
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -