नवरात्रि के दौरान मांस प्रतिबंध करो, नहीं तो मस्जिद में छोड़ेंगे सूअर

आगरा : एक बार फिर हिंदूवादी संगठनों द्वारा मीट मसले पर बयानबाजी की गई है। जिसमें इस संगठन द्वारा कहा गया है कि यदि उत्तरप्रदेश में नवरात्रि के दौरान मांस विक्रय को प्रतिबंधित नहीं किया गया तो मस्जिद के सामने करीब 100 सूअर छोड़े जाऐंगे। इस तरह की धमकी हिंदू जागरण मंच द्वारा दी गई है। इस मंच द्वारा कहा गया है कि आगरा में नवरात्रि के दौरान मीट सेलिंग को प्रतिबंधित किया जाना चाहिए। इस संगठन के नेतृत्वकर्ता नंदकिशोर वाल्मीकि ने कहा कि आगरा नगर निगम के कार्यालय के सामने प्रदर्शन किया गया। जिसमें एडिशनल म्यूनिसिपल कमिश्नर को पत्र भेजा गया।

जिसमें यह भी कहा गया कि संगठन के 50 से भी अधिक लोग इस तरह के प्रदर्शन में शामिल हुए। मिली जानकारी के अनुसार वाल्मीकि द्वारा नवरात्रि के दौरान मांस विक्रय को आगरा में प्रतिबंधित किए जाने की मांग की गई थी। मगर नगर निगम के प्रशासनिक अधिकारियों ने इस मामले में विरोध जताते हुए कहा कि मीट शाॅप को बंद नहीं किया जाएगा।

यह हमारा अपना तरीका है। हम यह निर्णय लेने में सक्षम हैं कि शराब और मांस की दुकानों को बंद करना है या नहीं करना है। इस मामले में एसएसपी प्रितेंदर सिंह ने कहा कि लोगों से चर्चा कर समस्या का हल खोजा जाएगा। मगर प्रदर्शनकारियों से कानून व्यवस्था को हाथ में न लेने की अपील की गई है। इससे स्थिति और बिगड़ने की संभावना है।

मीट की खरीद को लेकर किसी भी तरह के बैन लगाने की अशंका के बाद से आगरा के होटल, रेस्टोरेंट संचालक और ट्रेवल एजेंट परेशान हो उठे हैं। उनका मानना है कि टूरिस्ट यहां पर कई तरह के चिकन, मीट को पसंद करते हैं ऐसे में इस पर बैन लगने से पर्यटन भी प्रभावित होगा। बड़े पैमाने पर लोग लखनवी और आगरे के ज़ायके को पसंद करते हैं जो उत्तरप्रदेश में बेहतर तरीके से मिलता है लेकिन मीट बैन होने से पर्यटन प्रभावित होने की संभावना है। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -