बिसाहड़ा में हिंदूओं को मिले बंदूक : योगी आदित्यनाथ

Oct 08 2015 11:51 AM
बिसाहड़ा में हिंदूओं को मिले बंदूक : योगी आदित्यनाथ

दादरी : भारतीय जनता पार्टी के सांसद योगी आदित्यनाथ संगठन द्वारा एक बार फिर विवादित बयान दिया गया है। अब उन्होंने बिसाहड़ा गांव में हिंदूओं को बंदूक देने की बात कही है। उनका कहना है कि ग्रामीणों की हर संभव सहायता की जाएगी। संगठन द्वारा इस मामले में आरोप लगाया गया है कि मोहम्मद अखलाक की पीट-पीटकर हत्या कर दिए जाने के बाद अब हिंदूओं को परेशान किया जा रहा है। सांसद योगी आदित्यनाथ के इस बयान से फिर विवाद गहरा गया है। मिली जानकारी के अनुसार सांसद आदित्यनाथ के बयान के बाद फिर से लोगों की भावनाऐं भड़क उठी हैं।

हिंदूवादी संगठन हिंदूओं को उपप्रदव से पीडि़त बता रहे हैं और कहा जा रहा है कि उनकी किसी भी तरह की मदद नहीं की गई है। हिंदू युवा वाहिनी के सदस्यों द्वारा गांव में घुसने के प्रयास किए गए मगर प्रशासन और पुलिस द्वारा निषेधाज्ञा जारी कर दी गई। 

जिसके बाद हिंदू युवा वाहिनी के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को रोक दिया गया। संगठन के सदस्यों जितेंद्र त्यागी द्वारा कहा गया कि वे हिंदूओं से मिलेंगे। उन्होंने कहा कि वे ऐसे हिंदूओं से भेंट करेंगे जिन्हें अधिकारी परेशान कर रहे हैं, यदि उन्हें प्रताडि़त किया गया है तो उनकी सहायता भी करेंगे। चाहे फिर वह सहायता धन की हो तन की हो या मन की हो। इस मामले में 28 सितंबर को अखलाक की हत्या की घटना को दुखद कहा गया है।

सीबीआई द्वारा इसकी जांच की मांग भी की गई। उन्होंने कहा कि केवल मुसलमानों को मुआवज़ा दिया जा रहा है। दूसरी ओर उपद्रव के दौरान मृत युवक जयप्रकाश के परिजन की मदद न किए जाने को लेकर उन्होंने विरोध किया। त्यागी द्वारा यह भी कहा गया है कि गोवधन करने वाले को मुआवजा दिया गया है। यह भी पूछा गया है कि आखिर मुसलमानों को मदद क्यों मिल रही है। संगठन के सदस्यों द्वारा सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव के विरूद्ध नारेबाजी की गई।