पाक से आए हिन्दुओं ने सुनाया अपना दर्द, कहा- मर जाएंगे, लेकिन वापस पाकिस्तान नहीं जाएंगे

Oct 19 2019 05:13 PM
पाक से आए हिन्दुओं ने सुनाया अपना दर्द, कहा- मर जाएंगे, लेकिन वापस पाकिस्तान नहीं जाएंगे

नई दिल्ली: राधे कृष्ण जब पाकिस्तान से भारत आए तो उनकी आयु महज 12 वर्ष थी. पाकिस्तान में हिंदुओं पर जो जुल्म होता रहा है, उसको राधे कृष्ण भूले नहीं हैं. वहां जुल्म इतना था कि पाकिस्तान वापस जाने की बात पर राधे कृष्ण कहते हैं कि 'मर मिट जाएंगे, लेकिन पाकिस्तान वापस कभी नहीं जाएंगे.' अब राधे कृष्ण जैसे इन पाकिस्तान से आए हिंदुओं के समक्ष एक बहुत बड़ी समस्या खड़ी हो गई है. 

आपको बता दें कि वर्ष 2011 से 2014 के बीच तीर्थ यात्रा के वीज़ा पर पाकिस्तान से आए 128 हिंदू परिवार दिल्ली के मजनू टीला क्षेत्र में झुग्गी बस्ती में गुजरा करते हैं. अब एनजीटी अदालत ने इस झुग्गी बस्ती को अवैध घोषित कर दिया है. ऐसे में इन परिवारों के समक्ष यह समस्या खड़ी हो गई है कि आखिर अब जाएं तो जाएं कहां? क्योंकि मजनू के टीला में रहते-रहते, अब इन्हें भारत अपना लगने लगा है. क्या बच्चे, क्या बुजुर्ग और क्या महिलाएं, सभी भारत से मोहब्बत करने लगे हैं. अब वे मुड़कर वापस पाकिस्तान नहीं जाना चाहते.

पाकिस्तान के अत्याचारों से तंग आकर हिंदू परिवार वर्ष 2011 में एक-एक करके तीर्थ यात्रा वीजा पर भारत आने लगे थे. धीरे -धीरे इन परिवारों की तादाद बढ़ती गई. अब इन परिवारों के बिजली कनेक्शन, शौचालय और आधार कार्ड आदि भी बन चुके हैं. बच्चे भी दिल्ली के सरकारी स्कूलों में पढ़ने जाते हैं, किन्तु जो नहीं है वह है सिर के ऊपर एक छत.

मनी लांड्रिंग मामले में डीएचएफएल के ठिकानों पर ईडी का छापा, इकबाल मिर्ची से संबंध होने का शक

माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला का वेतन बढ़कर हुआ इतना

इस दिग्गज उद्योगपति ने खुद को बताया 'एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक'