Hindi Diwas : इन खास शायरी और स्लोगन से दें सभी को हिंदी दिवस की शुभकामना

Hindi Diwas : इन खास शायरी और स्लोगन से दें सभी को हिंदी दिवस की शुभकामना

हिंदी भारत की मातृभाषा है जिसे गर्व से बोला जाता है. इसके बिना हर हिंदुस्तानी खुद को अधूरा सा महसूस करता है. लेकिन आज के समय में इंग्लिश का भी अच्छा खासा बोल बाला है. पर आज भले ही हर तरफ अंग्रेजी का बोलबाला है, लेकिन भावनाओं की अभिव्यक्ति अगर किसी भाषा में सहजता से की जा सकती है तो वो है राष्ट्रभाषा हिंदी. यानि हिंदी की जगह देशवासियों में कोई नहीं ले सकता. 

 इसके सम्मान में हर साल 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाता है. दरअसल, अंग्रेजी हुकूमत से आजादी मिलने के दो साल बाद ही 14 सितंबर 1949 को संविधान सभा में एकमत से हिंदी को राजभाषा घोषित किया गया था, तभी से हर साल 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाता है. आज इसी के मौके पर हम आपको कुछ मेस्सगगे शेयर कर रहे हैं जिन्हें आप अपने दोस्तों को भेज सकते हैं और हिंदी दिवस की शुभकामना दे सकते हैं. आप भी हिंदी दिवस पर ये प्यारे मैसेजेस, ग्रीटिंग्स, विशेज, एसएमएस, वॉलपेपर्स को फेसबुक, वॉट्सऐप और ट्विटर के जरिए भेजकर अपने प्रियजनों और दोस्तों को हिंदी दिवस की शुभकामनाएं दे सकते हैं. 

हिन्दी है हमारी राष्ट्रभाषा,
हिंदी है हमें बड़ी प्यारी,
हिन्दी की सुरीली,
हमें लगे है हर पल प्यारी।

एकता की जान है,
हिन्दी देश की शान है।

हर कण में बसी है हिन्दी,
मेरी माँ की बोली भी बसी है इसमें,
मेरा मान है हिंदी,
मेरी शान है हिन्दी।

निज भाषा उन्नति अहै,
सब उन्नति को मूल,
बिन निज भाषा-ज्ञान के,
मिटत न हिय को सूल।

हाथ में तुम्हारे देश की शान,
हिन्दी अपनाकर तुम बनो महान।

भारत माँ के भाल पर सजी स्वर्णिम बिंदी हूँ,
मैं भारत की बेटी आपकी अपनी हिंदी हूँ।

हम सबकी यही अभिलाषा,
हिन्दी बने राष्ट्रभाषा।

हिन्दी मेरा इमान है,
हिंदी मेरी पहचान है,
हिन्दी हूँ मैं वतन भी मेरा प्यारा हिंदुस्तान है।

हिन्दी से हिन्दुस्तान है,
तभी तो यह देश महान है,
निज भाषा की उन्नति के लिए अपना सब कुछ कुर्बान है।

हिंदी भाषा नहीं भावों की अभिव्यक्ति है,
यह मातृभूमि पर मर मिटने की भक्ति है।

जिसमें है मैंने ख्वाब बुने,
जिस से जुड़ी मेरी हर आशा,
जिससे मुझे पहचान मिली,
वो है मेरी हिंदी भाषा।

Hindi Diwas :सिर्फ भारत में ही नहीं इन देशों में भी बोली जाती है हिंदी, जानें रोचक तथ्य

इस वजह से 14 सितम्बर को ही मनाया जाता है हिंदी दिवस