हिमाचल मंत्रिमंडल की बैठक होगी इस दिन, इन बड़े फैसलों पर लग सकती है मुहर

Jan 15 2020 05:14 PM
हिमाचल मंत्रिमंडल की बैठक होगी इस दिन, इन बड़े फैसलों पर लग सकती है मुहर

हिमाचल प्रदेश मंत्रिमंडल की बैठक 16 जनवरी को हो सकती है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में होने जा रही इस बैठक में कई अहम फैसले लिए जा सकते हैं। इसके अलावा  इसी दिन सिंगल विंडो की बैठक भी बुलाई जा सकती है। इसमें एक दर्जन से ज्यादा उद्योगों के प्रस्तावों को मंजूरी दी जा सकती है। वही प्रदेश के सरकारी स्कूलों में अब शिक्षकों की सेवानिवृत्ति से खाली होने वाले पदों के चलते बच्चों की पढ़ाई प्रभावित नहीं हो सकती है। हिमाचल में पहली बार शिक्षकों की सेवानिवृत्ति होने से पूर्व ही स्कूलों में पद भरने की प्रक्रिया को शिक्षा विभाग ने शुरू कर दिया गया है। वर्ष 2020 में सेवानिवृत्त होने वाले 850 शिक्षकों और गैर शिक्षकों का आंकड़ा जुटा लिया गया है। इसके अलावा 16 जनवरी को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में राज्य सचिवालय में होने वाली कैबिनेट बैठक में इस प्रस्ताव को लाया जाएगा। सरकार से मंजूरी मिलते ही शिक्षा विभाग भर्ती प्रक्रिया शुरू किया जा सकता है | 

दिसंबर महीने में प्रदेश सरकार ने प्रारंभिक शिक्षा विभाग के तहत शिक्षकों के 3636 पद भरने को मंजूरी दी है। ये पद स्कूलों में शिक्षकों के रिक्त चल रहे पदों वाले हैं। इसके अलावा अब शिक्षा विभाग ने साल 2020 में सेवानिवृत्त होने वाले शिक्षकों के चलते खाली होने वाले पदों को समय से भरने का फैसला लिया है। वही प्रारंभिक शिक्षा विभाग के प्रस्ताव के अनुसार इस साल हिमाचल में पहली से आठवीं कक्षा तक विभिन्न श्रेणियों के 850 शिक्षक और गैर शिक्षक सेवानिवृत्त हो सकते है। साल के अलग-अलग महीनों में सेवानिवृत्तियां होंगी। ऐसे में शिक्षा विभाग ने सरकार को 850 पद भरने का प्रस्ताव भेजा है। सरकार से प्रस्ताव को मंजूरी मिलते ही चरणबद्ध तरीके से भर्ती प्रक्रिया शुरू हो जा सकती है । इस प्रक्रिया के पूरा होते ही जैसे-जैसे शिक्षक और गैर शिक्षक सेवानिवृत्त होंगे, उनके स्थान पर तत्काल प्रभाव से नई नियुक्तियां कर दी जाएंगी। एचआरटीसी की बीओडी स्थगित वही, पथ परिवहन निगम की 16 जनवरी को होने वाली बीओडी टल गई है।

इसका कारण 16 जनवरी को मंत्रिमंडल की बैठक होना बताया जा रहा है। 17 जनवरी से प्रदेश भाजपा चुनाव की गतिविधियां शुरू होनी हैं।वही 18 जनवरी को अध्यक्ष का चुनाव होने के कारण अब यह बैठक 20 जनवरी के बाद ही होगी। इस बैठक को इसलिए भी महत्वपूर्ण माना जा रहा है कि इसमें कर्मचारियों के 20 सूत्रीय मांगों पर चर्चा होनी है। इसमें 13 फीसदी आईआर, 4 फीसदी डीए, दफ्तरों में कर्मचारियों के रिक्त पदों को भरा जाने से मुद्दे पर चर्चा होनी है। एचआरटीसी कर्मचारी यूनियन के पदाधिकारी राजेंद्र ठाकुर और खमेंद्र गुप्ता ने बताया कि बैठक भले ही 20 जनवरी के बाद हो लेकिन कर्मचारियों को इस बीओडी से बहुत उमीदें हैं। वही कर्मचारी यूनियन का स्थापना दिवस 26 जनवरी को एचआरटीसी कर्मचारी यूनियन का स्थापना दिवस 26 जनवरी को मुख्यालय में होगा। इसमें लोखा- जोखा और यूनियन को और मजबूत करने के लिए भविष्य की रणनीति तैयार की जा सकती है ।

पहाड़ी से नीचे आया सड़कों पर आया मलबा, ग्वालदम रोड हुई बंद

दर्दनाक हादसा: अनियंत्रित हुई कार खाई में गिरी, एक युवक ने खोई अपनी जान

फिर बनी सेना मिसाल, कर दिया ऐसा काम की मोदी ने भी किया सलाम