शशिकला के पति नटराजन पर हाईकोर्ट ने दिया फैसला

चैन्नई। मद्रास उच्च न्यायाल ने एआईएडीएमके की पूर्व महासचिव वीके शशिकला के पति एम नटराजन को लेकर निर्णय दिया है। न्यायालय ने यह निर्णय कर चोरी के मामले में दिया है। न्यायालय ने कहा है कि, नटराजन की 2 वर्ष की सजा को यथावत रखा जाएगा। इस तरह का निर्णय आने के बाद, नटराजन के स्वास्थ्य में गिरावट आ गई। ऐसे में उन्हें चिकित्सालय में भर्ती करवाया गया है। वीके शशिकला को पहले ही आय से अधिक संपत्ती के मामले में जेल की सजा सुनाई गई थी और, अब वे जेल में हैं।

दूसरी ओर, नटराजन को लेकर जानकारी सामने आई है कि, उन पर वर्ष 1994 में लंदन से लग्ज़री कार मंगवाने और, फिर कार की खरीदी के बिल में धोखाधड़ी किए जाने के मामले में, न्यायालयीन कार्रवाई का सामना करना पड़ गया था। न्यायालय ने उन्हें वर्ष 2010 में 2 वर्ष की सजा सुनाई थी। हालांकि, नटराजन ने उच्च न्यायालय में वाद दायर किया था। जिस पर, उच्च न्यायालय ने अपना निर्णय दिया है।

नटराजन को स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां हैं। उनकी किडनी और, लीवर को ट्रांसप्लांट किया जा चुका है, जिसके चलते वीके शशिकला ने जेल से 5 दिन की पैरोल मांगी थी। उल्लेखनीय है कि, वीके शशिकला को एआईएडीएमके में जयललिता के निधन के बाद, सबसे शक्तिशाली नेत्री माना जा रहा था। माना जा रहा था कि, वे ही पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता की राजनीतिक विरासत को संभालेंगी और राज्य की मुख्यमंत्री बनेंगी। मगर पार्टी में फूट होने के बाद, कई नेता स्वयं को मुख्यमंत्री पद का दावेदार मानने लगे।

ओ पन्नीरसेल्वम को कार्यवाहक मुख्यमंत्री बनाया गया था। बाद में पलानीसामी को विधायक दल का नेता चुना गया और, मुख्यमंत्री बनाया गया। ऐसे में पार्टी में विवाद गहरा गया था। विवाद से ओ पन्नीरसेल्वम गुट पार्टी से अलग हो गया था। उन पर पार्टी ने निलंबन की कार्रवाई की थी।

मगर बाद में, पार्टी में बंटे दो गुट एक हो गए और, ओ पन्नीरसेल्वम को उपमुख्यमंत्री बना दिया गया। हालांकि इसी बीच टीटीवी दिनाकरन का सीएम पलानीसामी और डिप्टी सीएम पन्नीरसेल्वम से राजनीतिक विवाद हो गया और, उन्होंने उनके समर्थकों को लेकर कार्रवाई करना प्रारंभ कर दी। ऐसे में पलानीसामी और पन्नीरसेल्वम समर्थकों ने दिनाकरन की परेशानियां बढ़ाने का प्रयास किया।

नोट पर 'महात्मा' शब्द को इस्तेमाल न करने की याचिका ख़ारिज

सैनिटरी नैपकिन पर दिल्ली हाई कोर्ट ने उठाए सवाल

शीघ्र करे आवेदन, इलाहबाद high court में नौकरी का शानदार अवसर

धर्म परिवर्तन कर आईएसआईएस को बेंचने की तैयारी

 

 

 

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -