इन कारणों से होता है आपको हाई ब्लड प्रेशर, ये हैं लक्षण

ब्लड प्रेशर की बीमारी आज हर किसी को होने लगी है. ये टेंशन के कारण ज्यादा होती है और इसके लिए आप भी कोई न कोई दवाई लेते होंगे. ऐसे ही हाइपर टेंशन या ब्लड प्रेशर की बीमारी भी लोगों  को घेरे हुए है. High Blood Pressure एक शांत ज्वालामुखी की तरह है जिसमे बाहर से कोई लक्षण या खतरा नहीं दिखाई नहीं देता पर जब यह हाई होता है तो आपकी जान भी जा सकती है. आज हम आपको बताने जा रहे हैं इसके लक्षण और उपाय.  

उच्च रक्तचाप (High Blood Pressure) के क्या लक्षण है
Hypertension का ज़्यादातर लोगो में कोई खास लक्षण नहीं होते है. कुछ लोगो में ज्यादा Blood Pressure बढ़ जाने पर सरदर्द होना, ज़्यादा तनाव, सीने में दर्द या भारीपन, सांस लेने में परेशानी, अचानक घबराहट, समझने या बोलने में कठिनाई, चहरे, बांह या पैरो में अचानक सुन्नपन, झुनझुनी या कमजोरी महसूस होना या धुंदला दिखाई देना जैसे लक्षण दिखाई देते है. अगर ऐसा आपको भी नज़र आये तो आप भी सतर्क हो जाये. 

उच्च रक्तचाप के कारण

* आनुवंशिकता(heredity)- आनुवंशिकता Hypertension का मुख्य कारण है. अगर किसी परिवार मे उच्च रक्त चाप की समस्या होती है तो उनकी अगली पीड़ी भी इस समस्या से ग्रस्त हो जाती है. यह व्यक्तियों के जींस का एक पीड़ी से दूसरी पीड़ी मे स्थानान्तर होने की वजह से होता है. 

* मोटापा(obesity)- शोध एवं अनुसंधानो से स्पष्ट हो चुका है की मोटापा उच्च रक्त चाप का बहुत बढ़ा कारण है. एक मोटे व्यक्ति मे उच्च रक्त चाप का खतरा एक समान्य व्यक्ति की तुलना मे बहुत बढ़ जाता है. 

* व्यायाम (exercise) की कमी- खेल-कूद, व्यायाम, एवं शारीरिक क्रियाओ मे भाग न लेने से भी उच्च रक्त चाप का खतरा बढ़ जाता है. 

* आयु(age)- जैसे जैसे व्यक्ति की उम्र बढ़ती है रक्त वाहिकाओ मे दिवारे कमजोर होती जाती है जिससे उच्च रक्त चाप की समस्या पैदा हो जाती है. 

* इन कारणो के अलावा अधिक नमक का सेवन और अत्यधिक मात्रा मे अल्कोहल, धूम्रपान एवं कॉफी का सेवन करने से उच्च रक्त चाप की समस्या पैदा हो सकती है.

यदि आपके पैरों में भी आती है सूजन तो अपनाये यह कारगर उपाय

कैंसर से बचाता है पालक का ज्यूस, हर रोज़ करें सेवन

क्या आप जानते हैं पेप्टिक अल्सर के लक्षण, ऐसे करें बचाव

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -