एक साल से प्रेमी के लिए भटक रही युवती की पोलिक3 ने करवाई आर्य समाज में शादी

खंडवा: अक्सर विवादों में रहने वाली मध्यप्रदेश पुलिस ने एक साल से अपने प्यार के लिए भटक रही युवती को उसके प्यार से मिलवा दिया. पुलिस ने अपनी मौजूदगी में आर्य समाज में दोनों का विवाह भी करवा दिया. 

जानकारी के अनुसार, वर्ष 2011 में भैरूखेड़ा निवासी सुनील पिता गोविंद पटेल एमएससी की पढ़ाई करने के लिए झांसी पहुंचा। जहाँ उसके चंचल पिता घनश्याम प्रजापति निवासी नवाबाद (झांसी) भी पढ़ रही थी। दोनों के बीच हुई दोस्ती कुछ ही समय में प्यार में बदल गई. करीब चार साल तक उनका प्रेम प्रसंग चलता रहा. इस दौरान यह बात युवती के घर वालों तक भी पहुंची.

दोनों एक-दूसरे के साथ शादी करने के लिए तैयार थे. चंचल के परिवार ने भी किसी तरह की आपत्ति नहीं जताई. इस बीच वर्ष 2014 में सुनील एमएससी खत्म कर खंडवा आ गया. यहां उसने अपने परिवार को चंचल के बारे में बताया. जिस पर सुनील के घरवालों ने दोनों का समाज अलग-अलग होने से उनके रिश्ते पर आपत्ति ली। परिजन के डर से सुनील ने चंचल को शादी करने से मना कर दिया था. 

इसी दौरान चंचल को सुनील की सगाई की सुचना प्राप्त हुई. जिसके बाद वह तुरंत नील की झांसी पुलिस में शिकायत की. लेकिन पुलिस द्वारा कोई कार्यवाई नहीं की गयी. जिसके बाद चंचल ने खंडवा पहुंच कर वह के कोतवाली ठाणे में शिकायत दर्ज़ करवाई. यहाँ भी उसकी शिकायत पर कोई कार्यवाई नहीं की गयी. 

अंत में पीड़िता ने 15 मई 2016 को एसपी कार्यालय में प्रेमी सुनील के खिलाफ शिकायत दर्ज़ करवाई. सीएसपी शेषनारायण तिवारी ने मामले की जाँच करते हुए चंचल व सुनील के माता-पिता व अन्य परिजन को कार्यालय बुलाकर समझाइश दी, जिसके बाद दोनों के परिवार की सहमति से आर्य समाज मंदिर में शादी करवा दी गई है.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -