तलाक के लिए बने अलग कोर्टः हेमा मालिनी

नई दिल्ली : बीजेपी सांसद और फिल्म अभिनेत्री हेमा मालिनी ने तलाक के मामलों में अपनी चिंता व्यक्त करते हुए कहा है कि तलाक के मामलों को निपटारे के लिए अलग कोर्ट की व्यवस्था होनी चाहिए। ताकि जल्द सुनवाई हो सके। मथुरा से सांसद हेमा ने लोकसभा में शून्यकाल के दौरान ये बातें कही।

हेमा ने कहा कि तलाक के फैसले आने में 10-10 साल लग जाते है। फैसला देर से आने के कारण दंपति को कितनी ही परेशानियों का सामना करना पड़ता है। हेमा मालिनी ने कहा कि वैवाहिक जीवन में पुरुष और महिलाएं जीवन की गाड़ी के दो पहिए हैं, लेकिन हाल के वर्षों में विभिन्न कारणों से तलाक के मामलों में बढ़ोतरी हुई है।

बीजेपी सांसद ने कहा कि कई ऐसे मामले आते है, जिसमें पति-पत्नी के संबंधओं में कड़वाहट आ जाती है, जिससे मधुर वैवाहिक जीवन जारी नहीं रह पाता है और इसका अंत तलाक के रुप में होता है औऱ तलाक का मामला इतना लंबा चलता है कि वो और अधिक कष्टदायक हो जाता है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -