बर्फ़बारी ने बढ़ाई लोगों की मुश्किलें, कश्मीर और हिमाचल में जनजीवन अस्त-व्यस्त

Nov 10 2019 05:17 PM
बर्फ़बारी ने बढ़ाई लोगों की मुश्किलें, कश्मीर और हिमाचल में जनजीवन अस्त-व्यस्त

शिमला: भारी बर्फबारी ने कश्मीर से लेकर हिमाचल प्रदेश तक लोगों की दिक्कतें बढ़ दी हैं. बर्फबारी से एक तरफ जहां एक ओर जहां पहाड़ों पर पर्यटकों की तादाद बढ़ रही है तो वहीं भारी बर्फबारी से कई क्षेत्रों में जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है. कश्मीर में हुई भारी बर्फबारी में लगभग 4 फीट बर्फ सड़कों पर जमा हो गई है. हजारों पेड़ उख़ड़ गए और सैकड़ों मकानों को क्षति पहुंची है.

श्रीनगर में कई इलाकों में बिजली आपूर्ति बाधित हो गई है. बर्फबारी और हिमस्खलन से श्रीनगर-जम्मू हाईवे भी प्रभावित है लोग मार्गों में फंसे हुए है. 48 घंटे में बर्फबारी की वजह से 7 लोगों की जान चली गई. सेब के बागों को बहुत नुकसान हुआ है. फल व्यापार को लगभग 100 करोड़ का नुकसान पहुंचा है. श्रीनगर सहित घाटी के कई इलाकों में बिजली की बहाली सरकार के लिए सबसे बड़ी मुसीबत बन गई है. 

दरअसल, कश्मीर घाटी में कई हज़ार पेड़ उखाड़ गए हैं, जिनमें चिनार के बड़े बड़े पेड़ भी शामिल हैं. जिन्होंने बिजली की तारों को नुकसान पहुंचाया है. ऐसे में बिजली इंफ्रास्ट्रक्चर को भी बहुत नुकसान पहुंचा है. जिसकी बहाली का काम तेजी से चल रहा हैं. जम्मू-कश्मीर के साथ ही हिमाचल प्रदेश में भी जबरदस्त बर्फबारी हुई है. रोहतांग दर्रे और लाहौल स्पीति में हुई भारी बर्फबारी के कारण जन जीवन अस्त व्यस्त हो गया है. रोहतांग दर्रे में मनाली लेह मार्ग पर आवागमन ठप्प हो गया है. लाहौल स्पीति का सड़क मार्ग से संपर्क कट गया है.

भाजपा ने कांग्रेस पर लगाए आरोप, नेशनल हेराल्ड और अयोध्या मामले को लेकर साधा निशाना

IRCTC Vikalp स्कीम: जानिए, कब और कैसे उठाएं इस योजना का लाभ

RBI के डिप्टी गवर्नर की पद के लिए पात्रा का नाम आगे, 3 अर्थशास्त्री और IAS अफसर भी रेस में शामिल