इन राज्यों के लिए जारी हुआ भारी बारिश का अलर्ट, जानिए अपने शहर का हाल

इन राज्यों के लिए जारी हुआ भारी बारिश का अलर्ट, जानिए अपने शहर का हाल
Share:

नई दिल्ली: देश के तकरीबन आधे से ज्यादा प्रदेशों में मॉनसून की एंट्री हो चुकी है. वहीं कुछ प्रदेशों में प्री-मॉनसून गतिविधियां आरम्भ हो गई हैं, जिससे लोगों को चिलचिलाती गर्मी एवं लू से राहत प्राप्त हुई है. मौसम विभाग के अनुसार, आज यानी 24 जून को कर्नाटक, तमिलनाडु, गुजरात, महाराष्ट्र एवं गोवा में भारी वर्षा का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है. वहीं बिहार एवं झारखंड में 25 जून को अति भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है. इसके अतिरिक्त पंजाब, हरियाणा एवं राजस्थान कुछ भागों में अभी भी हीटवेव का प्रकोप जारी है. 

दिल्ली में मौसम बदल गया है और प्री-मॉनसून गतिविधियां आरम्भ हो गई हैं, जिससे लोगों को भीषण गर्मी और लू से राहत मिली है. मौसम विभाग के अनुसार, दिल्ली में 24 जून से लेकर 29 जून तक गरज-चमक के साथ हल्की से मध्यम वर्षा के आसार हैं. इस के चलते बादलों की आवाजाही बनी रहेगी. हालांकि, मौसम विभाग के अनुसार, दिल्ली में मॉनसून के आगमन के बाद ही चिलचिलाती गर्मी से पूरी तरह राहत प्राप्त होगी. IMD के मुताबिक, इस पूरे सप्ताह दिल्ली का अधिकतम तापमान 39 से 42 डिग्री सेल्सियस के बीच रह सकता है तथा न्यूनतम तापमान 28 से 31 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है. 

मौसम पूर्वानुमान एजेंसी स्काईमेट के अनुसार, अगले 24 घंटों के दौरान तटीय कर्नाटक एवं केरल में मध्यम से भारी बारिश के साथ कुछ बहुत ही कम बारिश हो सकती है. वहीं कोंकण एवं गोवा दक्षिण गुजरात बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश सिक्किम, लक्षद्वीप और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में हल्की से मध्यम वर्षा के साथ कुछ भारी वर्षा हो सकती है. इसके अतिरिक्त मध्य महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, पूर्वी गुजरात, ओडिशा एवं पूर्वोत्तर भारत में हल्की से मध्यम बारिश संभव है. रायलसीमा, आंतरिक कर्नाटक, गंगीय पश्चिम बंगाल, बिहार, उत्तर प्रदेश, झारखंड दक्षिणपूर्व राजस्थान में हल्की बारिश हो सकती है. 

मौसम पूर्वानुमान एजेंसी स्काईमेट के अनुसार, पश्चिमी विक्षोभ मध्य क्षोभमंडलीय पश्चिमी हवाओं में एक गर्त के रूप में है, जिसकी धुरी समुद्र तल से 5.8 किलोमीटर ऊपर है, जो तकरीबन 28 डिग्री अक्षांश के उत्तर तथा 68 डिग्री पूर्वी देशांतर के साथ चल रही है. वहीं उत्तर-पश्चिम राजस्थान एवं उससे सटे पाकिस्तान पर एक चक्रवाती परिसंचरण बना हुआ है. दक्षिण-पश्चिम पाकिस्तान एवं उससे सटे गुजरात पर एक चक्रवाती परिसंचरण बना हुआ है. इसके अतिरिक्त पूर्वी उत्तर प्रदेश पर एक चक्रवाती परिसंचरण बना हुआ है. वहीं पूर्वी राजस्थान से मणिपुर तक उत्तर-पश्चिम मध्य प्रदेश, दक्षिण-पूर्व उत्तर प्रदेश, बिहार, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, मेघालय एवं दक्षिण असम से होते हुए एक पूर्व-पश्चिम गर्त समुद्र तल से 0.9 किलोमीटर ऊपर है. असम पर एक चक्रवाती परिसंचरण बना हुआ है. 

'आपके घर से डेढ़ करोड़ का सोना निकलेगा..', रांची में मौलाना ने रेहड़ी वाले से की साढ़े 3 लाख की ठगी

मानसून तेज होने से पहले बाढ़ से निपटने की तैयारियां शुरू, अमित शाह ने ली हाई लेवल मीटिंग

ओडिशा के 14 लोगों ने सनातन धर्म में की घर वापसी, बोले- धोखे में आकर बन गए थे ईसाई

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
Most Popular
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -