जानलेवा हुआ हीट स्ट्रोक, जानिए इसके लक्षण और बचाव का तरीका

जानलेवा हुआ हीट स्ट्रोक, जानिए इसके लक्षण और बचाव का तरीका
Share:

भारत के कई राज्यों में भीषण गर्मी ने कहर बरपाया है, मार्च से अब तक हीटस्ट्रोक के कारण 110 लोगों की जान जा चुकी है। मौसम की इस मार के बीच, रोजाना नए मामले सामने आ रहे हैं। लोगों के लिए घर से बाहर निकलते समय भी सावधानी बरतना जरूरी है, क्योंकि बुजुर्ग और छोटे बच्चे हीटस्ट्रोक के लिए सबसे ज्यादा संवेदनशील होते हैं।

हीटस्ट्रोक तब होता है जब शरीर लंबे समय तक उच्च तापमान के संपर्क में रहने के कारण बहुत गर्म हो जाता है। जो लोग तीव्र गर्मी के आदी नहीं हैं, उन्हें अधिक जोखिम होता है, खासकर अगर वे गर्म मौसम के दौरान जोरदार शारीरिक गतिविधियाँ करते हैं।

हीटस्ट्रोक के लक्षणों में शरीर का तापमान 104 डिग्री फ़ारेनहाइट या उससे अधिक हो जाना, तेज सिरदर्द, तेज़ साँस लेना, मतली या उल्टी, बोलने में कठिनाई, चक्कर आना या भ्रम शामिल हैं। ये लक्षण दिखने पर तुरंत डॉक्टर से सलाह लेना ज़रूरी है।

गर्मी के महीनों में बचाव सबसे ज़रूरी है। ढीले, हल्के रंग के कपड़े पहनने चाहिए और धूप में निकलते समय कम से कम SPF 15 वाला सनस्क्रीन लगाना चाहिए। निर्जलीकरण को रोकने के लिए भरपूर पानी पीना ज़रूरी है, क्योंकि इससे हीटस्ट्रोक का जोखिम बढ़ जाता है।

अगर आप लंबे समय तक धूप में रहते हैं, तो बीच-बीच में छाया में रहें और लंबे समय तक धूप में रहने से बचें। गर्मी से होने वाली थकावट के लक्षणों को पहचानना ज़रूरी है, जैसे कि बहुत ज़्यादा पसीना आना, थकान और मांसपेशियों में ऐंठन, क्योंकि समय रहते उपाय करने से हीटस्ट्रोक को रोका जा सकता है।

निष्कर्ष के तौर पर, जबकि गर्मी की गर्मी स्वास्थ्य के लिए बहुत ज़्यादा जोखिम पैदा करती है, जागरूकता और सक्रिय उपाय इन खतरों को कम करने में मदद कर सकते हैं। जानकारी रखने और ज़रूरी सावधानी बरतने से, लोग मौसम का सुरक्षित तरीके से आनंद ले सकते हैं और गर्मी से होने वाली बीमारियों की घटनाओं को कम कर सकते हैं।

डीएचएफडब्ल्यू, पश्चिम बंगाल ने 441 चिकित्सा अधिकारी, सीएचओ और अन्य पदों के लिए भर्ती की घोषणा की

सनस्क्रीन लगाने के बाद भी हो रही है टैनिंग, तो रखें इन बातों का ध्यान

क्या आपको भी है ज्यादा पाउडर लगाने की आदत तो हो जाएं सावधान, वरना होगा नुकसान

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -