आसाराम को बड़ा झटका, जमानत याचिका पर 'सुप्रीम' सुनवाई गर्मी की छुट्टियों तक टली

नई दिल्ली: दुष्कर्म के मामले में आसाराम आजीवन कारावास की सजा काट रहा है, किन्तु जोधपुर सेंट्रल जेल में आसाराम की तबीयत बिगड़ने के कारण उसे AIIMS जोधपुर में एडमिट कराया गया था. इस बीच आसाराम के उपचार के लिए अंतरिम जमानत पर सुनवाई गर्मी की छुट्टियों के बाद तक के लिए स्थगित हो गई है. 

दरअसल, आसाराम के वकील सिद्धार्थ लूथरा ने शुक्रवार को एक बार फिर शीर्ष अदालत से सुनवाई स्थगित करने की मांग करते हुए कहा कि आसाराम की हालत नाजुक है. वह अभी अस्पताल में भर्ती हैं, ऐसे में मामले की सुनवाई अगले सप्ताह करें. सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि आसाराम ICU में एडमिट है, समुचित उपचार चल रहा है. याचिका तो वैसे ही बेअसर हो गई है. इस पर लूथरा ने गर्मी छुट्टियों के बाद अगली सुनवाई की गुहार लगाई. जिसे अदालत ने मंजूरी दे दी. 

इससे पहले आसाराम की जमानत याचिका पर सुनवाई के दौरान न्यायमूर्ति एमआर शाह ने आसाराम के वकील सिद्धार्थ लूथरा से नाराज़गी जताई. न्यायाधीश शाह ने कहा कि आपने पिछली सुनवाई व्यक्तिगत कारणों से टालने की मांग की थी, किन्तु आप उसी दिन कलकत्ता उच्च न्यायालय में पेश हुए. क्या उच्च न्यायालय की सुनवाई शीर्ष अदालत की सुनवाई से अहम है? आपको सर्वोच्च न्यायालय को पहले तरजीह देनी चहिए फिर हाई कोर्ट को. 

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग करे बंगाल हिंसा और पलायन की जांच - कोलकाता हाई कोर्ट

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस से पहले वीडियो शेयर कर बोलीं माधुरी दीक्षित- 'योग को जिंदगी का हिस्सा बनाए'

टेस्ट क्रिकेट टीम में हुआ MP की बेटी का चयन, CM शिवराज ने दी बधाई

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -