जल्द भारत लाया जा सकता है भगोड़ा नीरव मोदी, लंदन कोर्ट में प्रत्यर्पण के लिए सुनवाई शुरू

नई दिल्ली: भारत से 13,000 करोड़ रुपये का बैंक लोन लेकर भागने के मामले में वांछित और भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी के प्रत्यर्पण पर सोमवार से अगले पांच दिन तक लंदन में वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट में सुनवाई की जाएगी। अदालत द्वारा केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) और प्रवर्तन निदेशालय (ED) के आरोपों पर सुनवाई की जाएगी। नीरव मोदी की लंदन के वैंड्सवर्थ जेल से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से न्यायालय के समक्ष पेशी हो सकती है।

बता दें कि कोरोना वायरस महामारी की वजह से यूनाइटेड किंगडम (UK) में भी लॉकडाउन का पालन किया जा रहा है। CBI और ED के अधिकारियों कि एक टीम दल क्राउन प्रॉसिक्यूशन सर्विस (CPS) के निरंतर संपर्क में है। CPS की तरफ से लंदन कोर्ट के समक्ष भारत का प्रतिनिधित्व किया जा रहा है। उड़ानें बंद होने की वजह से सुनवाई के लिए भारतीय अधिकारी लंदन नहीं पहुंच पाए थे।

CBI और ED ने पंजाब नेशनल बैंक (PNB) घोटाले में केस चलाने के लिए नीरव मोदी को भारत प्रत्यर्पित करने के लिए ब्रिटिश अधिकारियों से अनुरोध किया है। 49 वर्षीय नीरव मोदी को मार्च, 2019 में अरेस्ट किए जाने के बाद से दक्षिण-पश्चिम लंदन के वैंड्सवर्थ जेल में रखा गया है। क्राउन प्रॉसिक्यूशन सर्विस के माध्यम से भारतीय एजेंसियों द्वारा नीरव मोदी के खिलाफ अतिरिक्त आरोपों पर भी जोर दिया गया है। इन अतिरिक्त आरोपों में गवाहों को डराना-धमकाना और साक्ष्यों को नष्ट करना शामिल है।

एमपी के इस शहर में प्लाज्मा थैरेपी से ठीक हुआ कोरोना का मरीज

सप्ताह के पहले दिन हरे निशान में खुले बाजार, 350 अंक चढ़ा सेंसेक्स

सरकार ने किसानों के खातों में डाले 18 हज़ार करोड़, इस तरह चेक करें अपने अकाउंट का बैलेंस

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -