नाईट शिफ्ट में कर रहे हैं काम तो सेहत के लिए इन टिप्स पर दें ध्यान

नाईट शिफ्ट में कर रहे हैं काम तो सेहत के लिए इन टिप्स पर दें ध्यान

अगर आप नाइट शिफ्ट में काम करते हैं तो आपके शरीर की कुछ ख़ास जरूरतें होंगी. नाइट शिफ्ट का सेहत पर बुरा असर पड़ता है. इसके लिए जरुरी है कि आप अपनी सेहत का ध्यान दें और खाना, सोना समय पर करें. अगर आप भी नाईट शिफ्ट में काम करते हैं तो आपको बता दें किन टिप्स को फॉलो करना है. आपके लिए लाए हैं ख़ास डायट, एक्सरसाइज़ और स्लीपिंग टिप्स.

एक्सरसाइज़ टिप्स
नियमित रूप से एक्सरसाइज़ करने से आप काम के दौरान एक्टिव रहेंगे और सुबह आराम से सो पाएंगे. अगर आपको लगता है कि आपके पास एक्सरसाइज़ के लिए टाइम नहीं है तो आपको अपना लाइफस्टाइल और एक्टिव बनाना चाहिए. इसके लिए जानें टिप्स. 

घर या ऑफिस में जितना हो सके वॉक करें. ऑफिस जाते हुए अपने बस स्टॉप से थोड़ा पहले उतरें, वहां से वॉक करते हुए ऑफिस जाएं. लिफ्ट की जगह सीढ़ियों से जाएं. डिनर ब्रेक के बाद छोटी सी वॉक भी कर सकते हैं.

ब्रेक्स के दौरान हर घंटे अपनी सीट से कुछ मिनटों के लिए उठें और स्ट्रेचिंग करें. इससे आपकी कंधे, गर्दन और पीठ की मांसपेशियां खिचेंगी. मांसपेशियों के तनाव से ब्लड फ्लो कम होता है. स्ट्रेचिंग से ब्लड फ्लो बढ़ता है और मांसपेशियों से तनाव कम होता है. इससे आपको दिन में सोने में भी मदद मिलेगी.

योग करने से भी आप रात में एक्टिव रहेंगे और दिन में अच्छी तरह सो पाएंगे.

डायट
अगर आप नाइट शिफ्ट में काम कर रहे हैं तो आपको रात 9 बजे से लेकर सुबह 5 बजे तक गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल बीमारियों जैसे कि सीने में जलन, कब्ज़ और एसिडिटी की समस्या हो सकती है. इसके लिए भी खास टिप्स हैं. 

जब आपको नींद आ रही होती है तो जल्दबाज़ी में आप अनहेल्दी चीज़ें खाने लगते हैं, इसलिए बेहतर है कि अपने साथ टिफिन में कच्ची सब्ज़ियां और हमस या बादाम और किशमिश ले जाएं.

डिनर में बहुत भारी खा लेने से आपको रातभर थकान महसूस हो सकती है इसलिए एक साथ ज्यादा खाने की बजाए थोड़ी-थोड़ी देर में कुछ खाएं. बहुत देर से भी न खाएं, शरीर का बाकी सिस्टम बिगड़ सकता है.

नाइट शिफ्ट जब खत्म हो रही हो तो बहुत ज्यादा लिक्विड न लें, सुबह जब आप सोएंगे तो बार-बार बाथरूम जाने से नींद खराब हो सकती है.

एक दिन में तकरीबन 8 ग्लास पानी पियें, जिससे आपका पाचन तंत्र बेहतर रहे.

कैफीन कम लें, इनकी जगह जूस, पानी और दूध लें.

नींद
लंग केयर एंड स्लीप सेंटर के फाउंडर डॉक्टर प्रशांत मित्तल कहते हैं कि बार-बार अपनी शिफ्ट न बदलें, इससे आपकी बॉडी क्लॉक पर असर पड़ता है.

डॉक्टर प्रशांत कहते हैं अगर आप नाइट शिफ्ट में काम करते हैं तो सुबह सनग्लासेस पहनकर लौटें. ये आपको सूरज की किरणों से इंटरनल डे टाइम क्लॉक एक्टिवेट करने से बचाएगा.

आलू नहीं खाना चाहते तो करें इसके ज्यूस का सेवन, होंगे लाभ

गर्भवती के लिए बेहद लाभकारी है भुट्टा, जानें इसके फायदे

स्वस्थ रहने के लिए जरूर खाएं Vitamin C वाले फल और सब्जी, जानें फायदे