स्वास्थ्य जोखिम: आप रात को पक्षों को मोड़ते हुए बिताते हैं और खुजली करते रहते हैं? क्या आपका जिगर खतरे में है?

स्वास्थ्य जोखिम: आप रात को पक्षों को मोड़ते हुए बिताते हैं और खुजली करते रहते हैं? क्या आपका जिगर खतरे में है?
Share:

क्या आप रात में करवटें बदलते रहते हैं, और लगातार खुजली से राहत नहीं पा पाते? यह सिर्फ़ परेशानी से ज़्यादा हो सकता है; यह किसी गंभीर बीमारी का संकेत हो सकता है। यह लेख खुजली, नींद में गड़बड़ी और संभावित लीवर स्वास्थ्य समस्याओं के बीच संबंध की पड़ताल करता है।

रात्रिकालीन खुजली को समझना

रात में होने वाली खुजली या मुख्य रूप से रात में होने वाली खुजली, अविश्वसनीय रूप से परेशान करने वाली हो सकती है। यह अक्सर शरीर के विभिन्न हिस्सों को प्रभावित करते हुए, खुजलाने की निरंतर इच्छा के रूप में प्रकट होती है। जबकि कभी-कभी खुजली शुष्क त्वचा या पर्यावरणीय कारकों के कारण हो सकती है, लगातार रात में होने वाली खुजली पर अधिक ध्यान देने की आवश्यकता होती है।

रात्रिकालीन खुजली के संभावित कारण

  1. सूखी त्वचा: रात में खुजली का सबसे आम कारण सूखी त्वचा है। जब हवा शुष्क होती है, खासकर सर्दियों के महीनों में या शुष्क जलवायु में, त्वचा नमी खो देती है, जिससे जलन और खुजली होती है।

  2. एलर्जी: कुछ खाद्य पदार्थों, दवाओं या पर्यावरण संबंधी एलर्जी के कारण होने वाली एलर्जी से खुजली हो सकती है। कभी-कभी, शरीर के तापमान में बदलाव या एलर्जन के संपर्क में आने के कारण रात में ये प्रतिक्रियाएँ और भी बदतर हो सकती हैं।

  3. त्वचा संबंधी स्थितियां: एक्जिमा, सोरायसिस या डर्मेटाइटिस जैसी त्वचा संबंधी स्थितियां रात में भड़क सकती हैं, जिससे तीव्र खुजली हो सकती है। इन स्थितियों में अक्सर सूजन और प्रतिरक्षा प्रतिक्रियाएं शामिल होती हैं जो खुजली की अनुभूति को ट्रिगर करती हैं।

  4. तंत्रिका संबंधी कारण: कुछ तंत्रिका संबंधी स्थितियां, जैसे कि रेस्टलेस लेग सिंड्रोम या न्यूरोपैथी, झुनझुनी या खुजली जैसी संवेदनाएं पैदा कर सकती हैं, जो रात में और भी बदतर हो सकती हैं।

  5. लिवर की खराबी: सिरोसिस या हेपेटाइटिस जैसी लिवर की बीमारियाँ खुजली जैसे लक्षणों के साथ प्रकट हो सकती हैं, खासकर रात में। यह रक्तप्रवाह में पित्त लवण के निर्माण के कारण होता है, जो त्वचा में जलन पैदा कर सकता है।

खुजली और लिवर स्वास्थ्य के बीच संबंध

  1. पित्त लवण का निर्माण: यकृत पित्त का उत्पादन करता है, जो पाचन में मदद करता है। यकृत की शिथिलता में, पित्त प्रवाह बाधित हो सकता है, जिससे रक्त में पित्त लवण का निर्माण हो सकता है। ये लवण त्वचा के नीचे जमा हो सकते हैं, जिससे खुजली हो सकती है, खासकर हथेलियों और पैरों के तलवों में।

  2. कोलेस्टेसिस: यह एक ऐसी स्थिति है जिसमें लीवर से पित्त का प्रवाह कम हो जाता है या अवरुद्ध हो जाता है। खुजली कोलेस्टेसिस का एक सामान्य लक्षण है और यह नींद की गुणवत्ता और समग्र स्वास्थ्य को महत्वपूर्ण रूप से प्रभावित कर सकता है।

  3. संबंधित लक्षण: खुजली के साथ-साथ, लीवर संबंधी विकार पीलिया (त्वचा और आंखों का पीला पड़ना), गहरे रंग का मूत्र, पेट में दर्द और थकान जैसे लक्षण भी दिखा सकते हैं। अगर आपको खुजली के साथ-साथ ये लक्षण भी दिखाई देते हैं, तो डॉक्टर से सलाह लेना ज़रूरी है।

चिकित्सा सहायता कब लें

यदि आपको लगातार रात में खुजली का अनुभव होता है या लिवर की खराबी के अन्य लक्षण दिखाई देते हैं, तो तुरंत स्वास्थ्य सेवा पेशेवर से परामर्श करना आवश्यक है। रक्त परीक्षण और इमेजिंग अध्ययन सहित नैदानिक ​​परीक्षण आपके लक्षणों के अंतर्निहित कारण को निर्धारित करने में मदद कर सकते हैं।

रात्रिकालीन खुजली का प्रबंधन

  1. मॉइस्चराइज़ करें: अपनी त्वचा को हाइड्रेटेड रखने के लिए हाइपोएलर्जेनिक मॉइस्चराइज़र का उपयोग करें, विशेष रूप से सोने से पहले।

  2. ट्रिगर्स से बचें: उन ट्रिगर्स को पहचानें और उनसे बचें जो आपकी खुजली को बढ़ाते हैं, जैसे कि कुछ खाद्य पदार्थ, कठोर साबुन, या पर्यावरणीय एलर्जी।

  3. ठंडा वातावरण: अपने शयन कक्ष को ठंडा तथा हवादार रखें, ताकि अधिक गर्मी से बचा जा सके, क्योंकि इससे खुजली बढ़ सकती है।

  4. चिकित्सा उपचार: कारण के आधार पर, आपका डॉक्टर खुजली को कम करने या अंतर्निहित स्थिति का इलाज करने के लिए दवाओं की सिफारिश कर सकता है, जैसे कि एंटीहिस्टामाइन या यकृत के कार्य में सुधार करने वाली दवाएं।

रात में होने वाली खुजली आपके जीवन की गुणवत्ता को काफी हद तक प्रभावित कर सकती है और यह लीवर की खराबी सहित अंतर्निहित स्वास्थ्य समस्याओं का संकेत हो सकती है। संभावित कारणों को समझना और समय पर चिकित्सा जांच करवाना प्रभावी प्रबंधन और उपचार के लिए महत्वपूर्ण है। अगर आप खुजली के कारण नींद खो रहे हैं, तो इसे नज़रअंदाज़ न करें - मूल कारण का पता लगाने और आपको आवश्यक राहत पाने के लिए अपने स्वास्थ्य सेवा प्रदाता से बात करें।

'घरजमाई चाहते हैं शत्रुघ्न सिन्हा', खुद बेटी सोनाक्षी ने किया खुलासा

इस दिन रिलीज़ होगा Mirzapur Season 3 का ट्रेलर, गोलू गुप्ता ने कहा- 'आप भौकाल मचाएंगे'

रिलीज हुआ JNU पर बनी फिल्म का ट्रेलर, अहम रोल में दिखे उर्वशी रौतेला-रव‍ि किशन

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -