दिल्ली में हेल्थ इमरजेंसी जैसे हालात, प्रदूषण से बचने के लिए CPCB ने दी ये सलाह

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली में खराब हुई फिजा सुधरने का नाम ही नहीं ले रही है. इसी को देखते हुए, केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) ने लोगों को बाहर जाने से बचने की हिदायत दी. इसके साथ ही सरकारी और प्राइवेट कार्यालयों को गंभीर वायु प्रदूषण को देखते हुए वाहनों के इस्तेमाल को कम से कम 30 फीसद तक कम करने का निर्देश दिया.

शनिवार की सुबह दिल्ली की हवा का औसत AQI 499 दर्ज किया गया है. जो कल से भी खराब है. दरअसल, देश की राजधानी ने शुक्रवार को इस मौसम का सबसे खराब AQI दर्ज किया है. दिल्ली ने अपना 24 घंटे का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 471 बजे शाम 4 बजे रिकॉर्ड किया. गुरुवार को AQI 411 दर्ज किया गया था. CPCB ने शुक्रवार को एक बैठक में कहा कि, 'सरकारी और प्राइवेट दफ्तरों और अन्य प्रतिष्ठानों को सलाह दी जाती है कि वे वाहन के इस्तेमाल को कम से कम 30 फीसद (घर से काम करके, कार-पूलिंग, फील्ड गतिविधियों को अनुकूलित करके) कम करें. लोगों को बाहरी गतिविधियों को सीमित करने और कम से कम करने की हिदायत दी जाती है.

बता दें कि, आसपास के राज्यों में जलने वाली पराली और दिवाली के अवसर पर हुई आतिशबाजी के कारण राजधानी में प्रदूषण (Delhi AQI Level) ज्यादा बढ़ गया. शुक्रवार को दो इलाकों में वायु गुणवत्ता 700 से अधिक दर्ज की गई. हालांकि, औसत तौर पर यह आंकड़ा 360 है. इसके साथ ही, राजधानी के कई इलाके रेड जोन में बने हुए हैं.

इज़राइल सरकार ने नए कोविड वैरिएंट से निपटने के लिए राष्ट्रीय ड्रिल आयोजित की

जल्द ही बच्चों की कोरोना वैक्सीन के लिए जारी की जा सकती है गाइड लाइन

दिल्ली-राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में स्मॉग की परत

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -