मुंह के छाले से लेकर अन्य कई समस्याओं को झट से दूर कर देगा पीपल, जानिए कैसे?

पीपल का पेड़ अपने धार्मिक महत्व के लिए जाना जाता है। इस पेड़ की छांव और ठंडी हवाओं के लिए इसे जाना जाता है। इस पेड़ की कई लोग पूजा भी करते हैं। हालाँकि बहुत कम लोग जानते हैं कि पीपल के पेड़ की पत्तियों से लेकर इसके छाल का इस्तेमाल शरीर की कई समस्याओं को दूर करने के लिए किया जा सकता है। जी दरअसल इसके छाल से तैयार काढ़ा पीने से सांस से संबंधित परेशानी को दूर किया जा सकता है और अन्य समस्याओं से भी राहत मिलती है। आइए जानते हैं पीपल की छाल का काढ़ा पीने के फायदे के बारे में।

मुंह का छाला करे ठीक- पीपल की छाल का काढ़ा पीने से मुंह का छाला ठीक हो सकता है। जी दरअसल यह दर्द से भी राहत दिला सकता है। आप अपने मुंह के छाले को ठीक करने के लिए पीपल की छाल को पानी में उबालकर इस पानी से दिन में 2 से 3 बार कुल्ला करें। ऐसा करने से मुंह के छालों से राहत मिलेगी।

खांसी से दिलाए राहत- खांसी की परेशानी को दूर करने के लिए पीपल की छाल का काढ़ा पी सकते हैं। जी हाँ क्योंकि इससे खांसी की परेशानी भाग सकती है। जी दरअसल आप अपनी खांसी की परेशानी को दूर करने के लिए 1 गिलास पानी में 2 से 3 छाल डालें और इसे अच्छे से उबालें। वहीँ जब पानी अच्छे से उबल जाए, तो इससे गरारे करें।

घाव और चोट से दिलाए छुटकारा- पीपल की छाल का काढ़ा घाव और चोट से भी छुटकारा दिला सकता है। जी हाँ और इसके लिए 1 कप पानी में पीपल की छाल डालकर इसे अच्छे से उबाल लें। उसके बाद इस पानी से घाव और चोट को धो लें। ऐसा करने से इंफेक्शन की समस्या दूर हो जाएगी।

झुर्रियां हटाने में असरदार- स्किन से झुर्रियों की परेशानी को दूर करने के लिए पीपल की छाल का काढ़ा इस्तेमाल कर सकते हैं। जी हाँ और इसके लिए काढ़े को ठंडा होने दें और इसके बाद इससे अपने चेहरे को धोएं। ऐसा करने से स्किन की झुर्रियां कम होंगी।

हिचकी में आराम- पीपल की छाल का काढ़ा हिचकी की समस्या से छुटकारा दिला सकता है। जी हाँ और इसका इस्तेमाल करने के लिए पीपल की छाल को जलाकर इसका राख बना लें और अब इसे पानी में घोल लें। इसके बाद इस पानी को पी लें और इससे हिचकी की समस्या को दूर किया जा सकता है।


कैसे तैयार करें पीपल की छाल का काढ़ा?- पीपल की छाल का काढ़ा बनाने के लिए 3 गिलास पानी लें। इसमें 10 ग्राम पीपल की छाल डालें। इसके बाद इस पानी को अच्छे से उबाल लें। वहीँ जब पानी आधा रह जाए, तो इसे ठंडा होने दें। इस काढ़े को नियमित रूप से पिएं। दिन में दो से तीन बार इस काढ़े को पियें।

काले हो रहे हैं दांत और सांसों से आती है दुर्गंध तो इस्तेमाल करें ये प्राकृतिक पाउडर

ऑयली है चेहरा तो शहद के साथ मिलाकर लगाए ये चीज

मक्खन से मुलायम हाथों के ल‍िए लगाए ये होममेड क्रीम

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -