भारतीय महिला हॉकी टीम को मिली 3-1 से शानदार जीत, इस टीम को दी शिकस्त

Jun 25 2019 03:36 PM
भारतीय महिला हॉकी टीम को मिली 3-1 से शानदार जीत, इस टीम को दी शिकस्त

भारतीय महिला हॉकी टीम ने गुरजीत कौर के दो गोल की मदद से रविवार को यहां जापान को 3-1 से हराकर एफआइएच महिला सीरीज फाइनल्स खिताब जीत लिया. इस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में शनिवार को चिली को 4-2 से हराने के साथ ही विश्व की नौवें नंबर की टीम ओलंपिक क्वालीफायर के लिए भारत ने अपना स्थान पक्का कर लिया था. ​​टीम का प्रदर्शन भी इस मैच मे काफी अच्छा रहा है.

चिली ने कुछ इस तरह एकतरफा मुकाबले में जापान को दी करारी शिकस्त

अगर बात करें इस मैच में के बारें मे तो भारत को खेल के तीसरे मिनट में हासिल पेनाल्टी कॉर्नर मिला, जिस पर उसने गोल करते हुए 1-0 की बढ़त हासिल की. भारत के लिए यह गोल कप्तान रानी रामपाल ने किया. इसके बाद जापान ने 11वें मिनट में मैदानी गोल के जरिये 1-1 की बराबरी हासिल की. जापान के लिए यह गोल केनॉन मोरी ने किया.दूसरे क्वार्टर में कोई गोल नहीं हुआ, लेकिन तीसरे क्वार्टर के अंतिम मिनट में भारत के लिए गुरजीत कौर ने एक शानदार ड्रैग फ्लिक से गोल करते हुए स्कोर 2-1 कर दिया. भारत ने 2-1 की बढ़त के साथ अंतिम क्वार्टर में प्रवेश किया. इस क्वार्टर में हालांकि जापान को बराबरी करने के कई मौके मिले, लेकिन वह उन्हें भुना नहीं सकी. भारत ने हालांकि 60वें मिनट में पेनाल्टी कॉर्नर पर गोल करते हुए 3-1 के अंतर के साथ भारत की जीत पक्की कर दी. रानी टूर्नामेंट की सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी रहीं, जबकि गुरजीत ने सबसे ज्यादा गोल किए.

क्रिकेट के इतिहास में बना एक और नया रिकॉर्ड, छह रन पर ढेर हुई पूरी टीम

आपकी जानकारी के लिए बता दे​ कि इस जीत को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है, 'असाधारण खेल, शानदार परिणाम. महिला एफआइएच सीरीज फाइनल्स हॉकी टूर्नामेंट जीतने के लिए टीम को बधाई. यह शानदार जीत हॉकी को भविष्य में और चर्चित करेगी और कई युवा लड़कियों को यह खेल खेलने के लिए प्रोत्साहित भी करेगी.'खेल मंत्री किरण रिजिजू ने कहा है, 'अच्छी खबर है. भारतीय महिला टीम ने खिताब जीत लिया. टीम ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है. लड़कियों को बधाई. लालरेमसियामी के पिता का निधन हो गया था, जब टीम सेमीफाइनल खेल रही थी. टीम के ओलंपिक क्वालीफाई करने के सपने अभी भी जिंदा हैं.'टीम के मुख्य कोच शोर्ड मारिन ने कहा है, 'यह काफी मुश्किल मुकाबला था. हमने मैच में कुछ गलत नहीं किया. मुझे लगता है कि हमने अच्छा बचाव किया. हमने काफी तेज हॉकी खेली. गुरजीत ने फिर से अच्छा प्रदर्शन किया.' जिसकी बदौलत मैच मे टीम ने जीत हासिल की है.

24 जून : भारतीय क्रिकेट इतिहास का 'काला दिन', 42 रनों पर ढेर हुईं पूरी टीम

क्रिकेट में धोनी के भविष्य को लेकर कुछ ऐसा बोले ग्लेन मैकग्रा

आईसीसी ने जारी किया 12वें महिला वर्ल्ड कप 2021 का शेड्यूल, ऐसा होगा पूरा टूर्नामेंट