मंदिरों के संरक्षण के लिए अलग से निधि रखी जाएगी, हमने हिंदुत्व नहीं छोड़ा है: उद्धव ठाकरे

मुंबई: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने हाल ही में कहा है कि, ''राज्य में मंदिरों के संरक्षण के लिए अलग से निधि रखी जाएगी और महाराष्ट्र की संस्कृति को बचाने की कोशिश की जाएगी। इससे आपको भी समझ आएगा कि हमने हिंदुत्व नहीं छोड़ा है।'' वहीं इस दौरान उन्होंने राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण के हालात को देखते हुए कहा कि ''हमने घर-घर जाकर लोगों के स्वास्थ्य की जानकारी ली। हमें कई जानकारियां मिलीं जिसके आधार पर हमने हमारे नागरिकों का ख्याल रखा। इसकी वजह से कई लोगों की जान बच गई। कई लोगों की मृत्यु हुई, लेकिन हमने कोई आंकड़ा नहीं छुपाया। दूसरे राज्यों ने आंकड़े छुपाए जिसकी वजह से हमारे आंकड़े ज़्यादा हैं। क्या यह भी एक सवाल है?''

आगे उन्होंने मराठा आरक्षण के बारे में बात की। उन्होंने कहा, ''किसी का आरक्षण निकालकर किसी को आरक्षण नहीं दिया जाएगा और सभी समाजों के साथ न्याय किया जाएगा। जो कोई समाज में झगड़ा कराने की कोशिश कर रहा है, वो सफल नहीं होगा।।। बतौर मुख्यमंत्री मैं ज़िम्मेदारी के साथ यह कह रहा हूं।''

इसी के साथ आगे वह यह भी बोले कि ''बुलेट ट्रेन की मांग किसने की थी? इससे किसे फायदा होगा? महाराष्ट्र में बुलेट ट्रेन के केवल 4 स्टेशन हैं और बाकी दूसरे राज्य में। क्या मैं यह कह दूं कि यह जगह हमारी है और यहीं कारशेड बना दूं? मुंबईकरों की भलाई के नाम पर आप कुछ भी झूठ ना फैलाएं। आरे कारशेड को कांजुरमार्ग में शिफ्ट करने का फायदा भविष्य में समझ में आएगा। पिछली सरकार में बिना अनुमति कितनी रकम बढ़ाई गई थी, यह जानकारी भी जल्द मिल जाएगी।'' वैसे हम आपको यह भी बता दें कि उद्धव ठाकरे हर मामले पर अपनी प्रतिक्रिया देते हैं और अपने विरोधियों पर भी निशाना साधने से पीछे नहीं हटते।

राखी सावंत ने निक्की तम्बोली पर फेंकी चेयर, फिर हुआ ये...

कपिल के शो में पहुंचे अरशद और भूमि, मचा धमाल

ओबीसी कोटे को यथावत रखेगी एमवीए सरकार: उद्धव ठाकरे

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -