हाथरस गैंगरेप: सफदरजंग हॉस्पिटल में हुआ हंगामा, पीड़िता के परिजन धरने पर बैठे

Sep 29 2020 05:36 PM
हाथरस गैंगरेप: सफदरजंग हॉस्पिटल में हुआ हंगामा, पीड़िता के परिजन धरने पर बैठे

हाथरस गैंगरेप पीड़िता के पिता तथा भाई सफदरजंग हॉस्पिटल में धरने पर बैठे गए हैं। उन्होंने दोष लगाया कि हमारी मंजूरी के बगैर शव को हॉस्पिटल से ले जाया गया। हमें कोई पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट नहीं प्राप्त हुई। हमने किसी दस्तावेज पर हस्ताक्षर नहीं किए। परिवार का कहना है कि हमारी मंजूरी के बगैर हॉस्पिटल शव को कैसे ले जा सकता है।

वही पीड़िता के भाई ने कहा कि पिता ने एंबुलेंस ड्राइवर से वार्ता की है। एंबुलेंस यमुना एक्सप्रेस वे को पार कर चुकी है। पिता ने ड्राइवर से वापस आने तथा पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट दिखाने को कहा है। यदि ये सब नहीं होता है तो हाथरस में शव को कोई भी कबूल नहीं करेगा। वहीं भीम आर्मी के मुखिया चंद्रशेखर आजाद ने सफदरजंग अस्पताल के चिकित्सकों पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि सोमवार रात को चिकित्सकों ने वेंटिलेटर का प्लग निकाल दिया था, क्योंकि गवर्मेंट चाहती थी कि पीड़िता की मौत हो जाए, क्योंकि वो एक दलित समुदाय की थी। चंद्रशेखर आजाद ने कहा कि लड़की के माता-पिता के साथ यहां पर कोई भी पुलिस का आदमी नहीं था।

आपको बता दें कि चंद्रशेखर आजाद आज पीड़िता के परिवार के सदस्यों से मिलने दिल्ली के सफदरजंग हॉस्पिटल गए थे। उन्होंने अपराधियों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही की डिमांड की। बता दें कि मंगलवार प्रातः ही हाथरस घटना की पीड़िता ने दिल्ली के सफदरजंग हॉस्पिटल में दम तोड़ दिया। जिसके पश्चात् से ही इस घटना पर सियासी बवाल हो गया है। वही पीड़िता के परिवार ने एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) प्रशांत कुमार के बयान पर प्रतिक्रिया दी है। इसी के साथ मामले की जाँच की जा रही है।

श्रद्धालुओं के लिए खोला जाएगा सबरीमाला मंदिर

केरल: मनोवैज्ञानिक पीएम मैथ्यू वेल्लोर का निधन

क्या भारत में आयोजित होगी इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज ? सौरव गांगुली ने दिया जवाब