BirthDay Special: रोमांस के जादूगर, हसरत जयपुरी...

हिंदी सिनेमा के मशहूर गीतकार जिन्होंने अपने शब्दों से न सिर्फ गीत लिखें है बल्कि अमर गीत लिखें है, बॉलीवुड के जाने माने हसरत जयपुरी वैसे तो इनका पूरा नाम इक़बाल हुसैन है लेकिन इक़बाल साहब खुद को प्यार से हसरत पुकारना पसंद करते थे, 15 अप्रेल 1922 को जन्मे हसरत साहब शुरुआत दौर में छोटी-छोटी कविताएं लिखा करते थे, फिर एक समय बाद उन्होंने 1940 में नौकरी की तलाश में मुंबई का रुख किया.

मुंबई में उनकी हसरत पूरी हुई और अपने दादा की दी गई उर्दू और फ़ारसी की तालीम काम आई जिससे उन्हें बॉलीवुड में काम मिल गया और बतौर गीतकार वो गीत लिखने लगे, हसरत साहब को बॉलीवुड के टाइटल सांग लिखने में महारत हासिल थी, उस समय के हर फिल्म निर्देशक उनसे टाइटल गीत लिखवाने की गुजारिश किया करते थे यही से उनका सफर शुरू हुआ और उन्होंने कई फिल्मों के टाइटल सांग लिखे

उनके लिखे टाइटल गीतों ने कई फिल्मों को सफल बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी थी. हसरत जयपुरी के लिखे कुछ टाइटल गीत हैं.. दीवाना मुझको लोग कहे..दीवाना.. दिल एक मंदिर है..दिल एक मंदिर.. रात और दिन दीया जले.. रात और दिन.. तेरे घर के सामने इक घर बनाऊंगा.. तेरे घर के सामने.. ऐन इवनिग इन पेरिस.. ऐन इवनिग इन पेरिस.. गुमनाम है कोई बदनाम है कोई.. गुमनाम.. दो जासूस करें महसूस.. दो जासूस..आदि.

कठुआ-उन्नाव गैंग रेप : बॉलीवुड सेलेब्स ने शुरू किया #JusticeForOurChild कैम्पेन

इन फिल्मों के जरिये अनिल और माधुरी बने दर्शकों की पसंदीदा जोड़ी

कठुआ गैंग रेप मामले पर ट्रोल हुईं करीना, ट्रोलर ने किये भद्दे कमेंट

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -