हरियाणा ने शुरू किया दूसरे सीरो सर्वे, इसमें शामिल होंगे कम उम्र के बच्चे

हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने अंतिम दौर के अनुसार 14.8 प्रतिशत की व्यापकता दर के साथ कोविड -19 सीरोलॉजिकल सर्वेक्षण का तीसरा दौर शुरू किया है। पहली बार छह साल से ऊपर के बच्चों को कवर किया जाएगा। हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि अगस्त 2020 में किए गए सेरोसर्वे के पहले दौर में संक्रमण का प्रसार 8 प्रतिशत था, जबकि अक्टूबर में दूसरे दौर में 14.8 प्रतिशत था। 

उन्होंने कहा कि सर्वेक्षण करने के लिए लगभग 2,200 चिकित्सा कर्मियों की प्रतिनियुक्ति की गई है और दो सप्ताह के भीतर रिपोर्ट सौंप दी जाएगी। उन्होंने कहा, सर्वेक्षण के तीसरे दौर में पहले किए गए सर्वेक्षण की तुलना में व्यापक दृष्टिकोण होगा क्योंकि 36,520 नमूने लिए जाएंगे। पिछले सर्वेक्षण में 18,500 नमूने लिए गए थे।

उन्होंने कहा कि छह साल से अधिक उम्र के बच्चों को भी सर्वेक्षण में शामिल किया जाएगा, और यह ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में भी किया जाएगा। इस सर्वे में ग्रामीण इलाकों के 60 फीसदी और शहरी इलाकों के 40 फीसदी लोगों को शामिल किया जाएगा। इस सर्वे के जरिए यह पता चलेगा कि एंटीबॉडीज का विकास वैक्सीन लगाने से हुआ है या फिर कोविड संक्रमण की वजह से हुआ है। मंत्री ने कहा कि टीकों की पहली और दूसरी खुराक के प्रशासन के बाद विकसित एंटीबॉडी और विकसित एंटीबॉडी के प्रतिशत का भी इस सर्वेक्षण के माध्यम से आकलन किया जाएगा।

डेल्टा वेरिएंट का बढ़ा खतरा, इन लोगों को दी जाएगी बूस्‍टर डोज

खौलते पानी में समाधि लगाकर बैठ गया बच्चा, वीडियो वायरल

इंदौर एयरपोर्ट पर महिला के बैग से निकली मानव खोपड़ी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -