'अग्निपथ के लिए आवेदन करने वालों का सामाजिक बहिष्कार करेंगे..', खाप पंचायतों का ऐलान

चंडीगढ़: केंद्र सरकार द्वारा सेना में भर्ती के लिए लाई गई अग्निवीर योजना पर सैन्य अधिकरियों से लेकर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह खुद जानकारी दे चुके हैं। लेकिन इसके बाद भी कुछ लोग इसका विरोध कर रहे हैं। इसी क्रम में हरियाणा की कुछ खाप पंचायतों ने अग्निपथ के लिए आवेदन करने वाले लोगों के सामाजिक बहिष्कार की चेतावनी दी है। यही नहीं खाप पंचायत के नेताओं ने राज्य की सत्ताधारी भाजपा-जजपा गठबंधन और इस योजना का समर्थन करने वाले कारोबारी घरानों के भी बहिष्कार की घोषणा की है।

रिपोर्ट के अनुसार, इसको लेकर सूबे के रोहतक में खाप पंचायतों की बैठक हुई थी। बैठक में खाप नेताओं के साथ ही हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान और कुछ छात्र संगठनों के नेताओं ने भी हिस्सा लिया। खाप पंचायतों की ओर से बैठक की अध्यक्षता ओम प्रकाश धनखड़ ने की। उन्होंने धमकी दी कि अग्निपथ के लिए अप्लाई करने वालों को सामाजिक रूप से अलग-थलग कर उनका बहिष्कार किया जाएगा। धनखड़ ने आगे कहा कि, 'हम इस योजना का बहिष्कार कर रहे हैं, जो चाहती है कि अग्निवीर होने के नाम पर युवाओं को मजदूरों के तौर पर काम पर रखा जाए।”

यही नहीं खाप नेताओं ने भाजपा-जजपा और उनका समर्थन करने वाले कार्पोरेट घरानों का विरोध करने का भी आह्वान किया। बता दें कि वेदांता के अनिल अग्रवाल, आनंद महिंद्रा, हर्ष गोयनका, डॉ संगीता रेड्डी, किरण मजूमदार-शॉ और संजीव बिखचंदानी सहित कई कार्पोरेट घरानों ने अग्निपथ योजना को सही बताया था। इसके एक दिन बाद खाप पंचायतों ने ये कदम उठाया। बता दें कि देश के कई बड़े उद्योगपतियों ने ऐलान किया था कि सेना में चार साल के बाद रिटायर होने वालो अग्निवीरों को नौकरी देंगे।

यूपी में कोरोना की रफ़्तार ने डराया, 24 दिन में 5 गुना हो गए केस

राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू ने नवनिर्वाचित 5 सांसदों को दिलाई शपथ

दिल्ली में अमित शाह से मिले सीएम धामी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -