हरियाणा में कोरोना ने भयावह स्थिति की उत्पन्न, 2000 से अधिक नए पॉजिटिव केस आए सामने

Sep 26 2020 05:46 PM
हरियाणा में कोरोना ने भयावह स्थिति की उत्पन्न, 2000 से अधिक नए पॉजिटिव केस आए सामने

चंडीगढ़: देश के राज्य हरियाणा में 24 घंटे में 2024 नए COVID-19 के मामले आए हैं। जबकि 2863 संक्रमित स्वस्थ हो गए हैं। जबकि 18 और संक्रमितों की मौत हो गई है। फरीदाबाद में एक, गुरुग्राम में एक, अंबाला में दो, रोहतक में एक, करनाल में दो, हिसार में दो, पंचकूला में एक, भिवानी में एक, सिरसा में एक, यमुनानगर में दो, कैथल में दो व जींद में दो संक्रमितों की संक्रमण से मौत हुई है।

वही संक्रमित मरीजों का आँकड़ा अब 120578 पहुंच चूका है। जबकि मरने वालों की संख्या 1273 हो गई है। अभी 375 मरीजों की स्थिति अधिक नाजुक बनी हुई है। रिकवरी रेट 83.99 प्रतिशत पहुंच गई है। जबकि संक्रमण की दर 6.71 प्रतिशत है। राज्य में स्वास्थ्य महकमे ने 135186 संक्रमितों को मेडिकल सर्विलांस के दायरे में रखा गया है। जबकि 6038 संदिग्ध संक्रमितों की सैंपल रिपोर्ट की प्रतीक्षा है।

वही हरियाणा में 24 घंटे में फरीदाबाद में 221, गुरुग्राम में 279, सोनीपत में 186, रेवाड़ी में 117, अंबाला में 90, रोहतक में 79, पानीपत में 80, करनाल में 71, हिसार में 155, पलवल में 25, पंचकूला में 121, महेंद्रगढ़ में 53, झज्जर में 36, भिवानी में 71, कुरुक्षेत्र में 131, नूंह में 5, सिरसा में 82, यमुनानगर में 75, फतेहाबाद में 13,  कैथल में 41, जींद में 82 व चरखी दादरी में 11 नए संक्रमित सामने आए हैं। अब तक फरीदाबाद में 18928, गुरूग्राम में 19381, सोनीपत में 7751, रेवाड़ी में 5326, अंबाला में 7579, रोहतक में 5404, पानीपत में 7077, करनाल में 6996,  हिसार में 5575, पलवल में 2477, पंचकूला में 5550, महेंद्रगढ़ में 3179, झज्जर में 2348, भिवानी में 2606, कुरुक्षेत्र में 5117, नूहं में 1074, सिरसा में 3440, यमुनानगर में 3784, फतेहाबाद में 2133, कैथल में 2312, जींद में 1990 व चरखी दादरी में 557 नए संक्रमित मरीज सामने आ चुके हैं। इसी के साथ राज्य स्थिति और अधिक भयावह हो सकती है। 

बहन के साथ करता था छेड़खानी, इसलिए भाई ने कर दी अपने दोस्त की ह्त्या

भारत ने इमरान को दिया मुंहतोड़ जवाब, कहा- ये वही लोग हैं, जो लादेन को शहीद बताते हैं ....

सुप्रीम कोर्ट में याचिका- ट्रांसजेंडर के यौन उत्पीड़न पर दिशा-निर्देश जारी करने की मांग