नाईट शिफ्ट की जॉब से महिलाओं में बढ़ता है ब्रेस्ट कैंसर का खतरा

प्राइवेट सेक्टर में नाइट शिफ्ट सबके लिये लाइफस्टाइल का हिस्सा बन चुका है. लेकिन नाईट शिफ्ट में जॉब करने वालों के लिए सेहत से जुडी काफी परेशानी होती हैं. यदि आप नाइट शिफ्ट करते है, तो सतर्क हो जाइए. आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि किस तरह ये आपकी सेहत की नुकसान पहुंचा सकता है. 

दरअसल, बार्सिलोना के पोंपेयु फाबरा यूनिवर्सिटी के एक अध्ययन के अनुसार नाइट शिफ्ट में काम करने वालों में प्रोस्टेट कैंसर और ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा बहुत अधिक बढ़ जाता है. इस शिफ्ट में काम करने से हार्मोन्स पर काफी प्रभाव पड़ता है, जिसकी वजह से कैंसर का खतरा बढ़ जाता है. महिलाओं के लिए नाईट शिफ्ट की ड्यूटी करना बेहद ही जरुरी होता है. इतना ही नहीं ,बार्सिलोना के पोंपेयु फाबरा यूनिवर्सिटी में हुए एक अध्ययन में इसके कारणों का उल्लेख किया गया है.

जानकारी के अनुसार बता दें, अध्ययन में कहा गया है कि नाइट शिफ्ट करने वालों में गलत वक्त पर सेक्स हार्मोन्स जैसे कि Oestrogen (एस्ट्रोजन) और Testosterone (टेस्टोस्टेरोन) का लेवल बहुत अधिक बढ़ जाता है. इस अध्ययन के लिए अलग-अलग शिफ्ट में काम करने वाले करीब सौ लोगों के यूरीन सैंपल्स को जमा किया गया.  साथ ही उनके हॉर्मोन लेवल की भी जांच की गई, परीक्षण के दौरान पाया गया कि नाइट शिफ्ट में काम करने वालों का सेक्स हॉर्मोन लेवल काफी अधिक था जो समयानुसार गलत था. 

यह होते है शरीर में एक्यूप्रेशर पॉइंट, ऐसे करें कंट्रोल

आपको गर्मियों में डिहाइड्रेशन से बचाएंगे, यह कुछ खास जूस

वजन घटाने में मददगार साबित होगी काली मिर्ची

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -