रात में देर तक जागने से होता है ये खतरा

रात में देर से सोने वाले लोग कम जीते हैं एक सामान्य मनुष्य के लिए 6 घंटे की नींद पर्याप्त होती है और अच्छी नींद लेना शरीर के लिए काफी फायदेमंद होता हैं. अगर आप लंबा जीना चाहते हैं और मानसिक तनाव से दूर रहना चाहते हैं, तो अच्छा होगा कि आप रात में जल्दी बिस्तर में घुस जाएं और सुबह खूब काम करें. नींद पर किये गए शोध में हैरान कर देने वाले तथ्य सामने आये हैं. इस शोध के मुताबिक जो लोग देर रात तक जागते हैं उनमें सुबह जल्दी जागने वालों की तुलना में मरने की आंशका 10 फीसदी अधिक होती है और रात में जागने वालों में शारीरिक समस्याएं भी अधिक होती हैं".

इस शोध में शोधकर्ताओं ने 38 से 73 तक की उम्र के करीब साढ़े चार लाख लोगों को शामिल किया. शोध में शामिल तकरीबन 27 फीसदी लोगों ने स्वयं को पूरी तरह से सुबह काम करने वाला व्यक्ति बताया, 35 फीसदी ने स्वयं को काफी काम सुबह तो कुछ काम शाम में करने वाला बताया. इसके अलावा 28 फीसदी स्वयं को शाम में ज्यादा और सुबह कम काम करने वाला मानते हैं, तो वहीं 9 फीसदी लोग पूरी तरह से स्वयं को शाम में काम करने वाला बताते हैं. शोध में इन लोगों के वजन, धूम्रपान की आदत, सामाजिक-आर्थिक स्थिति को भी सूचीबद्ध किया गया.

साढ़े छह साल के दौरान इनमें हुई मौतों का विवरण तैयार किया गया. इस दौरान कुल 10,500 मौतें सामने आईं. शोध के मुताबिक इन लोगों में मौत का जोखिम इसलिए भी अधिक होता है क्योंकि देर से सोकर उठने की वजह से इनकी बॉयलाजिकल क्लॉक अपने आसपास के वातावरण से मेल नहीं खाती. रिसर्चरों की टीम का दावा है कि गलत समय पर खाना, शारीरिक गतिविधियां कम करना, अच्छे से नहीं सोना, पर्याप्त व्यायाम नहीं करना आदि के चलते लोगों को मानसिक तनाव हो सकता है. रिसर्चरों ने देर रात तक जागने वालों के लिए खास प्रकार के इलाज की बात भी कही है.

31 किलो कम करते ही लोगों ने समझा डिज्‍नी प्रिंस

मॉडल को पोर्नस्टार समझकर लोगों ने किया कुछ ऐसा

दकियानूसी नीति का टूटा रिकॉर्ड, सऊदी में आयोजित हुए पहला फैशन इवेंट