हरीश रावत ने पार किया राजनीतिक चक्रव्यूह, बहुमत प्रस्ताव पर मिले 34 मत

देहरादून : उत्तराखंड में छाए राजनीतिक गतिरोध को दरकिनार करते हुए कांग्रेस की हरीश रावत सरकार ने विधानसभा में बहुमत साबित कर लिया है। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत भाजपा द्वारा रचे गए राजीतिक चक्रव्यूह को भेदकर बहुमत साबित करने में सफल रहे हैं। उनके समर्थन में 34 विधायकों ने समर्थन किया है। इसके बाद हरीश रावत का फिर से मुख्यमंत्री बनने का रास्ता साफ हो गया। हालांकि कांग्रेस की विधायक रेखा आर्य ने कांग्रेस से बगावत कर कांग्रेस के खिलाफ ही मत दिया है। 

हालांकि अभी सर्वोच्च न्यायालय बुधवार को इस वोटिंग के परिणामों की विधिवत घोषणा करेगा। हालांकि वोटिंग को लेकर कांग्रेस के राजीव जैन ने 34 वोट मिलने की बात कही। भारतीय जनता पार्टी को 28 मत मिलने की जानकारी सामने आ रही है। अर्थात् बहुमत प्रस्ताव के समर्थन में सरकार को 34 मत मिले हैं। इस तरह की वोटिंग से कांग्रेस खेमें में खुशी है। सभी भगवान केदरानाथ, बद्रीनाथ, गंगोत्री और जमुनोत्री को धन्यवाद दे रहे हैं।

इस   मौके पर मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा है कि मतदान की प्रक्रिया शांतिपूर्ण रही और बहुमत प्रस्ताव को लेकर कांग्रेस को अधिक मत मिले हैं। भाजपा की ओर से विधायक मदन कौशिक ने हार मानते हुए कहा कि कांग्रेस ने पैसे के खेल से अपनी सरकार बचाई है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -