अंतरराष्ट्रीय मूवी गांधी में काम करने वाली पहली भारतीय एक्ट्रेस थी रोहिणी हट्टंगड़ी

रोहिणी हट्टंगड़ी एक बॉलीवुड फिल्‍म एक्ट्रेस हैं।  रोहिणी हट्टंगड़ी का जन्‍म 11 अप्रैल 1955 को महाराष्‍ट्र के पुणे में हुआ था। उनके पिताजी का नाम अनन्‍त ऑक था। 

शिक्षा: रोहिणी ने अपनी स्‍कूली शिक्षा रेणुका स्‍वरूप मेमोरियल गर्ल्‍स हाई स्‍कूल पुणे से कम्पलीट की। जिसके उपरांत उन्‍होंने नेशनल स्‍कूल ऑफ ड्रॉमा नई दिल्‍ली में एडमिशन लिया। जिसके साथ ही रोहिणी ने भारतीय क्‍लासिकल डांस कथकली और भरतनाट्यम की भी शिक्षा ली।
 
शादी: रोहिणी NSD के ही अपने बैचमेट जयदेव हट्टंगड़ी से शादी की थी, जिनकी 2008 में कैंसर से मौत हो गई। दोनों का एक बेटा असीम हट्टंगड़ी है जो बॉलीवुड इंडस्ट्रीज का ही एक भाग है। 

करियर: रोहिणी ने अपने करियर की शुरुआत मराठी स्टेज शो के द्वारा की थी। कैरियर के शुरुआती दिनों में जयदेव और रोहिणी ने बॉम्बे में एक मराठी थिएटर ग्रुप (आशिर्वाद) शुरू किया। जिसने 150 से अधिक नाटकों का निर्माण किया था। जिसके उपरांत उन्‍होंने कई टीवी सीरियलों में भी कार्य किया। रोहिणी हट्टंगड़ी ने 1978 में सईद अख्तर मिर्ज़ा की मूवी 'अरविंद देसाई की अजिब दास्तान' के साथ मूवी करियर की शुरुआत की। मूवी ने सर्वश्रेष्ठ फिल्म का राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार जीता। और जिसके उपरांत उन्‍होंने अल्बर्ट पिंटो को गुसा क्यूं आता है (1980) और चक्र (1981) में भी मुख्य भूमिकाओं में अभिनय किया।
 
उनका अगला बड़ा ब्रेक एक अंतरराष्ट्रीय मूवी गांधी (1982) था, इसके बाद ही उन्हें अंतरराष्ट्रीय पहचान मिली, और 1982 में इस मूवी में सहायक भूमिका के लिये उन्‍हें BAFTA अवार्ड मिला इस अवार्ड को पाने वाली वह इकलौती इंडियन एक्ट्रेस हैं। 
 
उन्होंने 2 'फिल्मफेयर पुरस्कार' और एक 'राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार' भी हासिल किए है। वह मुख्‍यत: मूवी गांधी (1982) में कस्तूरबा गांधी के अभिनय की वजह से जानी जाती हैं। उन्हें महेश भट्ट की दो मूवी, अर्थ (1982) और सारांश (1984) में उनकी भूमिकाओं के लिए भी जाना जाता है। अपने करियर के इन वर्षों में, उन्होंने  70 से भी अधिक मूवी में कार्य किया है, और प्रत्येक में उन्होंने अपने पात्रों को उतने ही प्रभावशाली ढंग से चित्रित किया है जितना वह अपने थिएटर प्रदर्शन में करती हैं।

अतीक अहमद पर ED लेगा बड़ा एक्शन, कुर्क होगी अवैध चल-अचल संपत्ति

किसान आंदोलन: आज केएमपी एक्सप्रेस-वे को जाम करने फिर सड़कों पर उतरे किसान

चुनाव परिणाम से पहले ही 'महाजोत' को सेंधमारी का डर, जयपुर में छिपाए 18 उम्मीदवार

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -