जब शनिदेव को हनुमान जी ने लपेट लिया था अपनी पूंछ में, जानिए पौराणिक कथा

मंगलवार का दिन हनुमानजी को समर्पित माना जाता है। वैसे इस दिन लोग हनुमान जी की कथा सुनना पसंद करते हैं। वहीं हनुमान जी की यूं तो कई महान कथाएं हैं लेकिन हम आपको बताने जा रहे हैं हनुमानजी और शनिदेव से जुड़ी कुछ कथा, जो आप नहीं जानते होंगे।

पौराणिक कथा- कहा जाता है शनिदेव खुद को बहुत शक्तिशाली मानते थे और उनमें घमंड भी बहुत था लेकिन हनुमानजी से जब हुआ उनका सामना तो उनका घमंड चूर-चूर हो गया। जी दरअसल बचपन में शनिदेव अपने माता-पिता से रूठ कर घर से भाग जाते हैं और अपनी शक्ति के बल पर लोगों को परेशान करने लगते हैं। इस तरह शनिदेव ने एक गांव में इसलिए आग लगा दी क्योंकि उस गांव के लोग उन्हें पानी नहीं पीने देते।

जी दरअसल यहाँ सभी गांव वाले शनिदेव को घेरकर मारने का प्रयास करते हैं तो हनुमानजी उन्हें बचा लेते हैं। हालाँकि शनिदेव इस अहसान को नहीं मानते हैं और हनुमानजी से कहते हैं कि तुम्हें मेरे रास्ते में नहीं आना चाहिए था। इस पर हनुमानजी कहते हैं अब तुम सीधे अपने पिता के पास जाओ, लेकिन शनिदेव उनसे वाद-विवाद करने लगते हैं। उसके बाद दोनों में गदा युद्ध होता है तब हनुमानजी उन्हें अपनी पूंछ में लपेटकर उनके पिता के पास ले जाकर छोड़ देते हैं। इस तरह उनका घमंड चूर-चूर हो जाता है। यह कथा काफी प्रचलित है और इस कथा को हर हनुमान भक्त को पढ़ना चाहिए।

होने जा रहा है शनि का राशि परिवर्तन, इन 4 राशिवालों को रहना होगा सावधान

आज भूल से भी न करें चंद्रमा के दर्शन, हो जाए तो पढ़े यह मंत्र और कथा

19 अप्रैल को है संकष्टी चतुर्थी, उत्पन्न हो रहा है रिक्ता दोष

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -