शनि देव के साथ हनुमान जी भी होंगे प्रसन्न करें यह काम

धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक शनिवार के दिन शनि देव की पूजा करने से शनि के प्रकोप से बचा जा सकता है। इसके साथ ही शनि के बुरे प्रभाव के कारण व्यक्ति का जीवन बुरी तरह प्रभावित हो जाता है। वहीं आज हम आपको कुछ आसान से उपाय बताते हैं, जिनको करने से आप पर शनि का बुरा प्रभाव नहीं पड़ेगा।

शनि मंदिर जाएं 
वर्ष के इस आखिरी शनिवार के दिन शनि देव के किसी भी मंदिर में जाएं और शनि देव से प्रार्थना करें और धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक शनि देव को तेल चढ़ाने से भी शनि देव प्रसन्न हो जाते हैं और उनकी कुदृष्टि उस व्यक्ति पर नहीं पड़ती है।
 
कर्म के देवता कर्म के अनुसार करते हैं न्याय 
शनि देव को कर्म फल दाता भी कहा जाता है। ऐसी मान्यता है कि शनि देव कर्म के मुताबिक ही व्यक्ति को फल देते हैं। इस आखिरी शनिवार बेहतर कर्मों का संकल्प लें। 
 
हनुमान जी की पूजा करें और हनुमान जी के मंदिर जाएं
धार्मिक मान्यताओं के अनुसार मंगलवार और शनिवार संकटमोचन हनुमान जी का है। यदि आप पर भी शनि की बुरी दशा चल रही है तो हनुमान जी की पूजा करें। हनुमान जी की पूजा करने से सभी तरह के दुष्प्रभाव दूर हो जाते हैं और जीवन में सब कुछ पहले से बेहतर हो जाता है। इसके साथ ही हनुमान जी इस कलयुग में जाग्रत देव हैं और अपने भक्तों से बहुत जल्दी प्रसन्न होने वाले भगवान हैं। अगली स्लाइड्स में जानते हैं कैसे करें हनुमान जी को प्रसन्न 
 
हनुमान जी अपने भक्तों से बहुत जल्दी प्रसन्न होने वाले देव हैं। आप अगर सिर्फ राम नाम का सुमिरन करेंगे तो हनुमान जी आपसे अवश्य ही प्रसन्न हो जाएंगे।  नित्य हनुमान चालीसा का पाठ करें। हनुमान जी के नित्य पाठ करने से न सिर्फ शनि दशा से छुटकारा मिलेगा बल्कि सभी तरह की समस्याएं दूर हो जाएंगी। इसके साथ ही संभव हो तो शनिवार के दिन सुंदरकांड का पाठ भी करना चाहिए। सुंदरकांड के पाठ से विशेष लाभ मिलता है।   
 

शरीर के इस अंग पर तिल माने जाते हैं अशुभ

मां लक्ष्मी के इस मन्त्र के जाप से दूर हो जायेगी दरिद्रता

अगर ग्रह दोष को करना चाहते है दूर तो ले आइये मोर पंख

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -