'ऑमेर्टा' को लेकर सांस्कृतिक भेदभाव पर बोल बैठे हंसल मेहता

शुक्रवार को राजकुमार राव स्टारर फिल्म 'ऑमेर्टा' देशभर के सिनेमाघरों में रिलीज़ हो गई. जो कि दुनिया के मोस्ट वांटेड टेररिस्ट अहमद ओमर सईद शेख पर आधारित है. फिल्म का निर्देशन हंसल मेहता ने किया है. फिल्म के एक खौफनाक सीन के बारे में बात करते हुए हंसल मेहता ने एक बयान दिया है जिससे वो काफी सुर्ख़ियों में आ गए हैं. फिल्म के इस सीन में टेररिस्ट अहमद ओमर सईद शेख ( राजकुमार राव ) की कार को चेक-पोस्ट पर रोक दिया जाता है और एक पुलिसकर्मी उन्हें बाहर निकलने के लिए कहता है, जो जानना चाहता है कि वह मुस्लिम है या उसने मुस्लिम से शादी की है. इस घटना के बारे में हंसल मेहता में अपनी असल घटना को सुनाया. उन्होंने कहा कि मैंने भी एक बार ऐसे सांस्कृतिक भेदभाव का सामना किया है.

हंसल मेहता ने उस वाकिया सुनाते हुआ कहा कि यह उस समय की बात है जब मैं दाढ़ी रखता था. दाढ़ी में बिल्कुल मुस्लिम लगता था.  हमने फिल्म में उस स्थिति के सीन को फिल्माया है जब मुस्लिम लोग दहशत के मारे दाढ़ी रखना छोड़ देते थे.  

बता दें कि फिल्म 'ऑमेर्टा' में दुनिया के मोस्ट वांटेड टेररिस्ट अहमद ओमर सईद शेख का किरदार राजकुमार राव ने निभाया है. जो कि पहले भी 'शाहिद', सिटी लाइट्स, अलीगढ जैसी फ़िल्में हंसल मेहत के साथ कर चुके हैं. 

Video : बॉलीवुड के इन टॉप-10 गानों ने मचाया 2018 में धमाल

रितिक की इस एक्ट्रेस ने शेयर किया बिकिनी में अपना हॉट अवतार

बॉलीवुड की ये बाला साड़ी में ढाहती है कहर

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -