बोगीबील ब्रिज :जिसने पुल की नींव रखी उसी को नहीं मिला उद्घाटन में निमंत्रण, भड़ककर बड़ी बात कह गए देवेगौड़ा

Dec 26 2018 10:01 AM
बोगीबील ब्रिज :जिसने पुल की नींव रखी उसी को नहीं मिला उद्घाटन में निमंत्रण, भड़ककर बड़ी बात कह गए देवेगौड़ा

बंगलुरु: देश के सबसे लंबे रेल और सड़क मार्ग वाले पुल के उद्घाटन के अवसर पर आमंत्रित नहीं किए जाने पर पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा ने दुख व्यक्त किया है. पीएम नरेंद्र मोदी ने इस 4.9 किलोमीटर लंबे पुल बोगीबील का 25 दिसंबर को पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन के अवसर पर उद्घाटन किया है. अब इसमें ध्यान देने वाली बात यह है कि देश के इस सबसे लंबे पुल का शिलान्यास देवेगौड़ा ने ही किया था. इस पुल को कुल 5900 करोड़ रुपए की लागत से बनाया गया है.

देश भर के बैंक कर्मचारी आज हड़ताल पर, अर्थव्यवस्था को लगेगा बड़ा झटका

इस परियोजना के बारे में देवेगौड़ा ने कहा है कि कश्मीर से कन्याकुमारी तक की रेलवे लाइन, दिल्ली मेट्रो और बोगीबील ब्रिज जैसी परियोजनाओं को प्रधानमंत्री के रूप में मैंने ही मंजूरी दी थी. मैंने इन तमाम परियोजनाओं के लिए 100-100 करोड़ रुपए का बजट भी आवंटित किया था और इसका शिलान्यास किया था, लेकिन आज लोग मुझे ही भूल गए हैं. जिस तरह से बोगीबील पुल के उद्घाटन के अवसर पर देवेगौड़ा को नहीं बुलाया गया उससे वे काफी नाराज़ दिख रहे हैं और उन्होंने कहा है कि इन सभी प्रोजेक्ट की शुरुआत मैंने ही की थी, लेकिन अब कौन मुझे याद करेगा.

क्रिसमस पर गोवा में आई पर्यटकों की संख्या में कमी, ये है वजह

वहीं जब देवेगौड़ा से सवाल किया गया कि क्या आपको इस कार्यक्रम में शामिल होने का निमंत्रण मिला था तो उन्होंने कहा कि अय्यो रामा, मुझे कौन याद करेगा. जिस तरह से इस परियोजना में देरी हुई  है, उस पर देवेगौड़ा का कहना है कि मैंने हसन-मैसेरु प्रोजेक्ट को 13 महीने में पूरा करवा दिया था. सही ही अन्य दो पुलों को भी को समय के अंदर ही पूरा करा दिया था. उन्होंने कहा कि कर्नाटक और बॉम्बे के कुछ लोग बोलते हैं कि देवेगौड़ा ने कुछ भी नहीं किया वो जाएं और इस ब्रिज को देखें. 

खबरें और भी:-

चीनी मिलों को कम ब्याज पर 7,400 करोड़ का कर्ज देगी सरकार

असम पुलिस की बड़ी कामयाबी, आधा किलो आरडीएक्स के साथ दो आतंकियों को दबोचा

इस्लाम ही एक मात्र सनातन धर्म, अगर मोदी मुस्लिम बन जाएं तो देश में शांति आ जाएगी- नेशनल कांफ्रेंस